भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली और उपकप्‍तान रोहित शर्मा के बीच टी20 क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में काफी करीबी जंग चल रही है. विराट वनडे और टेस्‍ट क्रिकेट में नंबर-1 बल्‍लेबाज हैं जबकि रोहित वनडे और टी20 के शीर्ष बल्‍लेबाजों में शुमार हैं. ऑस्‍ट्रेलिया के दिग्‍गज कप्‍तान इयान चैप्‍पल मानते हैं कि रोहित-विराट की तुलना में सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली ने ज्‍यादा मुश्किल गेंदबाजी अटैक का सामना किया है.Also Read - 'रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे और रिषभ पंत को निशाना बनाएंगे इंग्लैंड के गेंदबाज'

पढ़ें:- IND vs WI: शाई होप का बड़ा कीर्तिमान, विव रिचर्ड्स-बाबर आजम का रिकॉर्ड तोड़ बने… Also Read - WATCH: कोच नहीं रोहित शर्मा ने कराई टीम इंडिया को फील्डिंग प्रैक्टिस, हंसते-हंसते खिलाड़ियों का हुआ बुरा हाल

वेबसाइट ईएसपीएन क्रिकइन्फो के लिए लिखे अपने कॉलम में इयान चैपल ने लिखा, “यह तर्क दिया जा सकता है कि कोहली और शर्मा भारत के सर्वश्रेष्ठ वनडे बल्लेबाज हैं. उन्हें चुनौती देने वालों में सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी होगी, जिन्होंने 15 वर्षों तक अंतरराष्ट्रीय गेंदबाजों को परेशानी में रखा.” Also Read - India vs England- पहले टेस्ट में यह होगी भारत की प्लेइंग XI, Mayank Agarwal और Mohammed Siraj को मिल सकता है मौका

इयान चैपल का मानना है कि सचिन-गांगुली के समय में प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय टीम के पास दो अच्छे तेज गेंदबाज थे. ‘तेंदुलकर-गांगुली ने अपना अधिकतर समय सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजी जोड़ियों के सामने पारी का आगाज करते हुए बिताया. पाकिस्तान के वसीम अकरम और वकार यूनिस, वेस्टइंडीज के कर्टली एंब्रोस और कोर्टनी वॉल्श, ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैकग्रा और ब्रेट ली, दक्षिण अफ्रीका के एलन डोनाल्ड ओर शॉन पोलाक, श्रीलंका के लसिथ मलिंगा और चमिंडा वास का सामना करते हुए किसी भी बल्लेबाज के कौशल की असली परीक्षा होती है.’’

चैपल ने कहा, ‘‘विपक्ष की मजबूती को देखते हुए आपको तेंदुलकर और गांगुली का पलड़ा भारी रखना होगा. हालांकि अगर आप वर्तमान आंकड़ों पर गौर करें और कोहली को भी तेंदुलकर के समान और शर्मा को गांगुली के समान पारियां दें तो फिर वर्तमान जोड़ी का पलड़ा भारी हो जाता है.’’

पढ़ें:- BBL: डेल स्‍टेन की जगह शामिल हुए इस पाकिस्‍तानी तेज गेंदबाज ने 5 विकेट हॉल झटक किया सभी को हैरान

इस पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने हालांकि माना कि कोहली और शर्मा सफेद गेंद की सर्वश्रेष्ठ जोड़ी है. ‘‘उनका वनडे और टी20 का संयुक्त रिकॉर्ड बेहतरीन है. कोहली ने दोनों प्रारूप में 50 से अधिक की औसत से रन बनाये हैं. तेंदुलकर ने बहुत कम टी20 अंतरराष्ट्रीय खेले हैं और जब तक यह प्रारूप लोकप्रिय होता तब तक गांगुली का करियर खत्म हो चुका था.’