ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) के भविष्य पर चिंता जताते हुए कहा है कि अगर इस खेल को बचाना है तो अन्य टीमों को भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) से सीखना चाहिए.

Adelaide T20, AUSvSL: वॉर्नर ने 33वें जन्मदिन पर लगाया शतक, ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को 134 रन से राैैंदा

भारतीय क्रिकेट टीम ने हाल में दक्षिण अफ्रीका को अपने घर में टेस्ट सीरीज में 3-0 से पराजित किया. पूर्व कंगारू दिग्गज ने भारत (India), इंग्लैंड (Engleand) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के अलावा बाकी टेस्ट देशों के प्रदर्शन में आई गिरावट पर चिंता जताई है.

चैपल ने कहा कि सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के भारत के जज्बे से दूसरी महत्वाकांक्षी टीमों को सीखना चाहिए ताकि टेस्ट प्रारूप सुरक्षित रहे.

चैपल ने ‘ईएसपीएन क्रिकइंफो’ में अपने कॉलम में लिखा,‘टेस्ट क्रिकेट के भविष्य को बचाना है तो खेल का स्तर ऊंचा रखना होगा. भारत को प्रतिभाओं का विशाल पूल, अपार आर्थिक संसाधन और आईपीएल (IPL) होने से काफी फायदा है. दूसरी टीमें भी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का जज्बा भारत से सीख सकती हैं.’

‘भारतीय पेस अटैक किसी भी मैदान पर कहर बरपा सकता है’

भारत ने अपने प्रमुख तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के बिना भी दक्षिण अफ्रीका का सूपड़ा साफ करके आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप (ICC Word Test Championship) तालिका में शीर्ष स्थान पर कब्जा कर लिया है.

Diwali Wishes: क्रिकेट स्टार्स ने दीवाली पर अपने फैंस को कुछ इस अंदाज में दी बधाई

चैपल ने कहा, ‘भारतीय गेंदबाजी आक्रमण का कोई जवाब नहीं है. भारत के पास हमेशा से अच्छे स्पिनर थे लेकिन अब बेहतरीन तेज गेंदबाज भी आ गए हैं. हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ऑलराउंडर की कमी पूरी करते हैं लिहाजा यह भारतीय आक्रमण किसी भी मैदान पर कहर बरपा सकता है.’

‘कोहली मोर्चे से अगुआई करते हैं’

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Indian Cricket Team Captain Virat Kohli) की खास तौर पर तारीफ करते हुए कहा, ‘भारत के पास विराट कोहली (virat kohli) जैसा कप्तान है जो मोर्चे से अगुवाई करता है. लगातार अच्छा खेलने की कोहली की ललक से दूसरों को प्रेरणा मिलती है.’

गौरतलब है कि भारतीय टीम अगले महीने से अपने घर में बांग्लादेश के खिलाफ तीन टी-20 और दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी. सीरीज की शुरुआत तीन नवंबर से टी-20 मैच से शुरू होगी.