नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय किकेट परिषद (आईसीसी) ने खेल से भ्रष्टाचार समाप्त करने की ओर अगला कदम उठाते हुए खिलाड़ियों और अधिकारियों पर खेल के समय मैदान पर और ड्रेसिंग रूम में भी संचार उपकरणों, विशेषकर ‘स्मार्ट वॉच’ के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है. आईसीसी ने पुष्टि की कि खिलाड़ी और मैच अधिकारियों के क्षेत्र (पीएमओए) दिशानिर्देशों के अंतर्गत मैदान में और पीएमओए के लिये बनाये गये क्षेत्र में ‘स्मार्ट वॉच’ पहनने को अनुमति नहीं दी जायेगी.

आईसीसी ने विज्ञप्ति में कहा, ‘‘पीएमओए में संचार उपकरणों पर रोक होगी और किसी भी खिलाड़ी को इस तरह संवाद उपकरणों को रखने या इनके इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं दी जायेगी जो इंटरनेट से जुड़े हों.’’

मैदान पर वापसी को तैयार स्टीव स्मिथ, टी-20 टूर्नामेंट से करेंगे आगाज

खेल की संचालन संस्था ने कहा, ‘‘स्मार्ट वॉच जो फोन से या वाई – फाई या फिर किसी भी उपकरण से संचार हासिल कर सकती हो, उसके इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी जायेगी. इसलिये हम सभी खिलाड़ियों को याद दिलायेंगे कि उन्हें मैच के दिन मैदान पर प्रवेश करते ही इस तरह के उपकरणों को अपने मोबाइल के साथ सौंप देना चाहिए.’’

मैच फिक्सिंग के किसी भी तरह के आरोपों से बचने के लिये पाकिस्तानी खिलाड़ियों को लॉर्ड्स में पहले टेस्ट के दौरान स्मार्ट वॉच पहनने से रोकने के एक दिन बाद यह कदम उठाया गया है.

वेस्टइंडीज दौरे से पहले क्रिकेटर के पिता की गोली मारकर हत्या

आईसीसी खिलाड़ी को मैदान पर किसी भी संचार के उपकरण ले जाने की अनुमति नहीं देता और यह बात ड्रेसिंग रूम में भी लागू होती है. अधिकिारियों को विशेष उपकरण इस्तेमाल के लिये दिये जाते हैं जिससे वे अपने साथियों के साथ बातचीत कर सकते हैं.

यहां इस बात का जिक्र किया जा सकता है कि टीवी कैमरों में भारतीय कप्तान विराट कोहली को पिछले साल नवंबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान डगआउट में बैठकर वॉकी – टॉकी पर बात करते हुए देखा गया था.