कोविड-19 महामारी के कारण दुनिया में इस समय खेल की सभी प्रतियोगिताएं भी बाधित हुई हैं. जुलाई-अगस्त में आयोजित होने वाला टोक्यो ओलंपिक भी अगले साल के लिए टाल दिया गया है जबकि भारत की बहुप्रतिक्षित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को भी 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है. Also Read - World No Tobacco Day 2020: कोरोना काल में धूम्रपान करने से बचें, नहीं तो बढ़ सकता है संक्रमण का अधिक खतरा

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के प्रभावशाली बोर्ड ने कोविड-19 महामारी को देखते हुए शुक्रवार को टी20 विश्व कप और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप सहित अपने प्रमुख टूर्नामेंट के लिये विभन्न आपात योजनाओं पर चर्चा की. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की तरफ से सौरव गांगुली ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई इस बैठक में हिस्सा लिया जबकि यह कयास लगाए जा रहे थे बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष इसमें भाग लेंगे. Also Read - Railway and Flights Rules and Regulations: 1 जून से बदलने वाले हैं रेलवे, बस और फ्लाइट्स के ये नियम, बरतनी होगी सावधानी

‘IPL 2020 स्थगित होने पर भी MS Dhoni को मिलेगा आखिरी मौका’ Also Read - Corornavirus in Jharkhand Update: 24 घंटे में कोविड-19 के 42 नए मामले, 563 हुई संक्रमितों की संख्या

बोर्ड ने इसके साथ ही 2019 के लिए वित्तीय विवरणों तथा आईसीसी पुरुष विश्व कप 2019 और आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप क्वालीफायर 2019के अंतिम खातों को भी मंजूरी दी. महिला टी20 विश्व कप के सफल आयोजन के लिये स्थानीय आयोजन समिति का भी आभार व्यक्त किया गया.

टेस्ट सीरीज के भी रद्द होने के आसार

कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण दुनिया भर में खेल गतिविधियां ठप्प पड़ी हैं. विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत होने वाली कई द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज के भी रद्द होने के आसार बन रहे हैं. आईसीसी विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘महामारी के कारण विश्व स्तर पर खेलों पर पड़ रहे प्रभाव पर चर्चा की गयी.’ टूर्नामेंट को आगे खिसकाने या उनकी तिथियों में बदलाव पर कोई फैसला नहीं किया गया.

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी मनु साहनी ने कहा, ‘आईसीसी प्रबंधन आईसीसी प्रतियोगिताओं को लेकर आपात योजनाओं पर काम करता रहेगा. इसके साथ ही वह इस महामारी से जुड़ी विभिन्न परिस्थितियों के आधार पर सभी उपलब्ध विकल्पों पर विचार करने के लिये सदस्य देशों के साथ काम करना जारी रखेगा.’

बोर्ड के एक सदस्य से पूछा गया कि इंग्लैंड अगर पाकिस्तान और वेस्टइंडीज की मेजबानी नहीं कर पाता है तो फिर क्या होगा तो उन्होंने कहा कि अंक वितरित करने का मामला तकनीकी समिति को सौंपा जाएगा.

विराट कोहली बोले-COVID-19 से लड़ाई नहीं आसान, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

सदस्य देशों के प्रतिनिधि ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘यह तब तक नहीं हो सकता जब तक कि कोई सौहार्दपूर्ण हल नहीं निकल जाता. ऐसा हो सकता है कि भारत छह श्रृंखलाएं खेले और तालिका में शीर्ष पर रहे और इंग्लैंड ‘लॉकडाउन’ और एफटीपी (भविष्य के दौरा कार्यक्रम) में व्यस्तता के कारण तीन श्रृंखलाएं ही खेल पाए. अंकों के वितरण के लिये उचित हल निकालना होगा और यह मामला तकनीकी समिति को सौंपा जाना चाहिए.’

बोर्ड के कुछ सदस्यों को लगता है कि आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप पर खतरा नहीं है क्योंकि अक्टूबर अभी काफी दूर है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘अगर चीजें जून तक नियंत्रण में आ जाती है तो हम विशेष आपात योजना पर काम कर सकते हैं. अभी आईसीसी कई योजना पर काम कर रही है और आने वाले दिनों में वह अपने प्रस्तावों को सामने लेकर आ जाएगी.’