ICC World Cup 2019 : आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के अपने तीसरे मैच में पाकिस्तान की टीम शुक्रवार को काउंटी ग्राउंड पर श्रीलंका के खिलाफ मैदान में उतरेगी. उलटफेर करने में माहिर पाकिस्तानी टीम ने टूर्नामेंट के अपने दूसरे मैच में इंग्लैंड को 14 रन से हरा दिया था. वहीं पहले मैच में उसे वेस्टइंडीज ने सात विकेट से मात दी थी. इस मैच में पाकिस्तान की पूरी टीम 105 रनों पर ढेर हो गई थी. दूसरे मैच में पाकिस्तान ने इस वर्ल्ड कप की सबसे मजबूत दावेदार और मेजबान टीम इंग्लैंड को मात देकर सभी को हैरान कर दिया.

अगर बात श्रीलंका की करें तो उसे पहले मैच में न्यूजीलैंड के हाथों दस विकेट से हार मिली. न्यूजीलैंड ने पहले मैच में श्रीलंका को 136 रनों पर समेट दिया था. हालांकि श्रीलंका ने वर्षा से बाधित मैच में अफगानिस्तान पर जीत दर्ज करके वापसी की. लग रहा था कि मजबूत गेंदबाजी वाली अफगानिस्तान की टीम इस मैच में श्रीलंका को पटक देगी लेकिन 1996 वर्ल्ड कप की विजेता रही श्रीलंका ने 34 रनों से मैच अपने नाम कर जीत के रास्ते पर वापसी की. श्रीलंका को एक बार फिर मध्यक्रम की विफलता से बचना होगा. उसने न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच विकेट 14 रन के भीतर और अफगानिस्तान के खिलाफ सात विकेट 36 रन के अंदर गंवा दिए थे.

जयवर्धने ने श्रीलंका को दिया जीत का मंत्र, विश्वकप में ये रणनीति आयेगी काम

पिछले मैच के प्रदर्शन को देखते हुए पाकिस्तान का इस मैच में पलड़ा भारी लग रहा है क्योंकि पाकिस्तान ने जिस तरह बल्ले और गेंद से वापसी की वो उसे इस मैच में जीत का प्रबल दावेदार बनाती है. इंग्लैंड के खिलाफ पाकिस्तान की टीम में जो अनुभवी खिलाड़ी हैं उन्होंने अपनी अहमियत दिखाई. मसलन प्रोफेसर के नाम से मशहूर मोहम्मद हफीज और टीम के सबसे अच्छे बल्लेबाज माने जाने वाले बाबर आजम के अलावा कप्तान सरफराज अहमद ने अर्धशतकीय पारियां खेलीं. वहीं फखर जमान और इमाम उल हक की सलामी जोड़ी ने टीम को मजबूत शुरुआत दी थी.

अनुभवी खिलाड़ियों का होना पाकिस्तान के लिए सरप्लस है जो श्रीलंका के पास नहीं है. श्रीलंका के पास कुल मिलाकर एंजेलो मैथ्यूज ही एक अनुभवी खिलाड़ी हैं, लेकिन लगता है कि इस समय बल्ला और गेंद दोनों मैथ्यूज से मानो रूठे बैठे हैं.

पिछले मैच में कुशल परेरा ने सबसे ज्यादा 78 रन बनाए थे. उनके अलावा कोई और बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सकेगा. अफगानिस्तान के खिलाफ श्रीलंका को जीत उसकी गेंदबाजी ने दिलाई थी. नुवान प्रदीप ने अहम समय पर चार विकेट लेकर अफगानिस्तान को हार के लिए मजबूर कर दिया था.