नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के विवाद निवारण पैनल ने मंगलवार को बीसीसीआई के खिलाफ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के मुआवजे को दावे को खारिज कर दिया. पीसीबी ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड पर द्विपक्षीय श्रृंखला से जुड़े सहमति पत्र (एमओयू) का सम्मान नहीं करने का आरोप लगाया था. आईसीसी ने अपने आधिकारिक ट्विटर पोस्ट पर लिखा, ‘‘विवाद निवारण पैनल ने बीसीसीआई के खिलाफ पाकिस्तान के मामले को खारिज कर दिया है.’’Also Read - पाक मंत्री ने लगाया आरोप- अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत न्यूजीलैंड ने रद्द किया पाकिस्तान दौरा

Also Read - Pakistan vs New Zealand: सुरक्षा कारणों के चलते New Zealand ने रद्द किया दौरा, PCB अध्यक्ष Ramiz Raja भड़के

पीसीबी ने बीसीसीआई पर एमओयू का सम्मान नहीं करने का आरोप लगाते हुए 447 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग की थी. इस एमओयू के तहत भारत को 2015 से 2023 के बीच पाकिस्तान से छह द्विपक्षीय श्रृंखलाएं खेली थी. Also Read - Virat Kohli ने किया 'T20 कप्तानी' छोड़ने का ऐलान, ठीक अगले दिन BCCI ने उठाया ये बड़ा कदम

कोहली ने ऑस्ट्रेलिया को बताया वर्ल्ड क्लास टीम, स्मिथ-वॉर्नर के बिना भी आसान नहीं होगा हराना

बीसीसीआई ने इसके जवाब में कहा था कि वह इस कथित एमओयू को मानने के लिए बाध्य नहीं है और यह कोई मायने नहीं रखता क्योंकि पाकिस्तान ने भारत द्वारा सुझाए आईसीसी के राजस्व मॉडल पर समर्थन की प्रतिबद्धता पूरी नहीं की.

आईसीसी ने इसके बाद पीसीबी के मुआवजे दावे पर विचार के लिए तीन सदस्यीय विवाद निवारण समिति गठित की. इस मामले की सुनवाई एक से तीन अक्टूबर तक यहां आईसीसी के मुख्यालय में हुई.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ T20 सीरीज में रोहित शर्मा तोड़ेंगे मार्टिन गुप्टिल का वर्ल्ड रिकॉर्ड

पूर्व विदेशी मंत्री सलमान खुर्शीद उन व्यक्तियों में शामिल रहे जिनसे सुनवाई के दौरान जिरह हुई. बीसीसीआई के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार खुर्शीद ने सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट खेलने के इनकार करने के भारत के रुख को उचित ठहराया था.