नई दिल्ली. टीम इंडिया के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह इस वक्त धुआंधार फॉर्म में हैं. उनकी यॉर्कर विरोधियों पर बिजली बनकर टूट रही है. हाल ही में खत्म हुए एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट में इसका जबरदस्त प्रभाव भी देखने को मिला. बुमराह ने इस टूर्नामेंट के 4 मैचों में 8 विकेट चटकाए और वो भारत की ओर से सबसे सफल गेंदबाज रहे. बुमराह के इस प्रदर्शन का लोहा ICC भी माना जहां उन्हें वनडे के नंबर वन गेंदबाज का तमगा हासिल हुआ.Also Read - India vs England: नेट्स में लौटे उप कप्तान अजिंक्य रहाणे; नॉटिंघम टेस्ट में खेलने की संभावना बढ़ी

Also Read - शोएब अख्तर ने बताया, 'विराट कोहली से आगे निकलने' के लिए क्या करें बाबर आजम

वनडे के नंबर 1 गेंदबाज बुमराह Also Read - India tour of England: अभ्यास मैच में चोटिल हुए भारतीय खिलाड़ी; स्क्वाड में केवल 22 फिट क्रिकेटर मौजूद

जसप्रीत बुमराह 797 रेटिंग प्वाइंट के साथ वनडे के नंबर गेंदबाज हैं और अब उनके पास मौका है इस कामयाबी को आगे बढ़ाने का ताकि वो अपने करियर बेस्ट 821 रेटिंग प्वाइंट को पीछे छोड़ते हुए ICC गेंदबाजों की रैंकिंग में 30 साल पुराना भारतीय रिकॉर्ड भी ढेर कर सकें.

विराट कोहली के पीछे ‘हाथ धोकर’ पड़े रोहित शर्मा, खतरे में पड़ी वनडे की बादशाहत?

मनिंदर ने 1988 में रिकॉर्ड

दरअसल, साल 1988 में भारतीय स्पिनर मनिंदर सिंह ने ICC गेंदबाजों की वनडे रैंकिंग में 851 अंक अर्जित किए थे, जो कि आज तक सर्वाधिक रेटिंग प्वाइंट का भारतीय रिकॉर्ड है. मनिंदर ने तब 1986 में बनाए कपिलदेव के 845 रेटिंग प्वाइंट के भारतीय रिकॉर्ड को तोड़ा था. लेकिन, अब बुमराह के पास बेहतरीन मौका है कपिलदेव को पीछे छोड़ते हुए मनिंदर के रिकॉर्ड को तोड़ने का.

बुमराह के लिए ‘वेस्टइंडीज’ मौका

बुमराह के सामने वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज है, जिसमें दमदार प्रदर्शन कर वो उस ओर कदम बढ़ा सकते हैं. बुमराह के 797 प्वाइंट हैं और वो मनिंदर सिंह के 851 अंक से 54 रेटिंग प्वाइंट पीछे हैं. ये फासला मुश्किल जरूर नजर आता है लेकिन बुमराह तके फॉर्म को देखते हुए मुश्किल नहीं लगता. बुमराह के पास 800 के बैरियर को तोड़ने का अनुभव भी है. वो पिछले महीने ही ICC वनडे रैंकिंग में 821 रेटिंग प्वाइंट तक पहुंचे हैं. ऐसे में इस एक्सपीरियंस का फायदा उन्हें 30 साल पुराने भारतीय रिकॉर्ड को तोड़ने में भी मिल सकता है.