आईसीसी वनडे और टी20 विश्‍व कप की तर्ज पर ही टेस्‍ट क्रिकेट को रोमांचक बनाने के लिए वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप (ICC Test Championship) का फॉर्मूला लेकर आई. खेल के सबसे लंबे प्रारूप की चैंपियनशिप फैन्‍स को भी खूब रास आ रही है, लेकिन पाकिस्‍तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार युनूस (Waqar Younis) का मानना है कि भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच मैच के बिना टेस्ट चैम्पियनशिप बेमानी है. Also Read - कोरोनावायरस के चलते Test Championship के फाइनल की तारीख में हो सकता है बदलाव

विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (ICC Test Championship) में नौ शीर्ष रैंकिंग वाली टेस्ट टीमें हैं जो अपने चुने हुए प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ छह द्विपक्षीय सीरीज खेले रही हैं. हर टीम को छह में से तीन सीरीज अपने घर पर और तीन विदेशी सरजमीं पर खेलनी है. जिसके बाद जून 2021 में इंग्लैंड में चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा. Also Read - कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में उतरे अख्तर, कहा 'हिंदु या मुस्लिम नहीं, इंसान बनने का समय है'

पढ़ें:- BCCI ने एक धुंधली तस्‍वीर पोस्‍ट कर फैन्‍स के सामने दागा सवाल, पूछा-बताओं इसमें… Also Read - विदेशों में जीत की आदत डालने के लिए करनी होगी काफी मेहनत: सुनील गावस्‍कर

वकार युनूस (Waqar Younis) ने यूट्यूब चैनल क्रिकेटबाज को दिये इंटरव्यू में कहा ,‘ पाकिस्तान और भारत के लिये सरकार के स्तर पर भी स्थिति मुश्किल है लेकिन आईसीसी इस मैच के लिये अधिक सक्रिय भूमिका निभा सकती है.’’

उन्होंने कहा ,‘‘आईसीसी को दखल देकर कुछ करना चाहिये क्योंकि भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबले के बिना टेस्ट चैम्पियनशिप के कोई मायने नहीं है.’’

पढ़ें:- IPL में खेलने को बेकरार हैं ये कंगारू तेज गेंदबाज, ‘मैं फोन के पास बैठा हूं, एक कॉल आते ही…’

मुंबई में 2008 के आतंकी हमले के बाद से भारत ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है. दोनों देशों के बीच राजनयिक और राजनीतिक तनाव के कारण कोई द्विपक्षीय सीरीज भी अब नहीं होती है.

वकार (Waqar Younis) ने कहा कि दोनों देशों के तनावपूर्ण संबंधों के कारण वह अपने 14 बरस के अंतरराष्ट्रीय कैरियर में भारत के खिलाफ चार ही टेस्ट खेल पाये.

उन्होंने भारत के मौजूदा तेज गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा ,‘‘पहले ऐसा नहीं था लेकिन अब हालात बदल गए हैं. भारत के पास जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा जैसे उम्दा गेंदबाज हैं और यही वजह है कि भारत टेस्ट और अन्य प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है.’’