नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज में खेले महिला T20 विश्व कप का खिताब जीत लिया है. फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 8 विकेट से हराते हुए खिताब पर कब्जा जमाया. ये चौथी बार है जब ऑस्ट्रलियाई टीम ने महिला T20 विश्व कप का खिताब अपने नाम किया है. Also Read - ' केवल 16 साल की ओपनर शेफाली वर्मा को हार का जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते'

स्पिन के ‘जादू’ से जीता ऑस्ट्रेलिया Also Read - ICC Women's T20 World Cup: लीग की हार का बदला फाइनल जीतकर लिया

फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की जीत में उसके स्पिनरों की भूमिका अहम रही. ऑफ स्पिनर एशलेग गार्डनर ने 22 रन देकर 3 विकेट लिए, तो लेग स्पिनर जार्जिया वेयरहैम ने 11 रन देकर इंग्लिश बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा, और इस तरह इंग्लैंड की टीम 19.4 ओवर में सिर्फ 105 रन ही बना सकी. Also Read - ICC Women's T20 World Cup 2020, Final: भारतीय प्लेइंग XI में हो सकता है 1 बदलाव

‘साझेदारी’ जीत की

इंग्लैंड से मिले 106 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भी 44 रन तक अपने 2 विकेट गंवा दिए थे. लेकिन उसके बाद गार्डनर और लेनिंग के बीच तीसरे विकेट के लिए हुई 62 रन की साझेदारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने 15.1 ओवर में ही जीत के लक्ष्य को हासिल कर लिया.

एलिसा और गार्डनर छाए

गार्डनर को उनके आलराउंडर प्रदर्शन के लिए प्लेयर आफ द मैच चुना गया जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज एलिसा को प्लेयर आफ द टूर्नामेंट चुना गया. एलिसा ने टूर्नामेंट में सर्वाधिक 225 रन बनाने के अलावा चार स्टंपिंग और चार कैच से आठ शिकार भी किए. टूर्नामेंट में उनसे अधिक शिकार सिर्फ भारत की तानिया भाटिया ही कर सकी जिन्होंने दो कैच और नौ स्टंपिंग से 11 शिकार किए.

फाइनल में ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड बरकरार

आस्ट्रेलिया को कभी किसी महिला विश्व क्रिकेट चैंपियनशिप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ शिकस्त का सामना नहीं करना पड़ा है और यहां भी यह रिकार्ड बरकार रहा है. इंग्लैंड को इस क्रम को तोड़ने के लिए अब कम से कम 2020 में होने वाली अगली विश्व चैंपियनिशप का इंतजार करना होगा.