लंदन: बांग्लादेश ने शाकिबुल हसन (75) और मुश्फिकर रहीम (78) की शानदार अर्धशतकीय पारियों की मदद से छह विकेट पर 330 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ और आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी खड़ा किया. शाकिबुल और मुश्फिकर ने तीसरे विकेट के लिये 142 रन की भागीदारी की जो विश्व कप में उनकी सर्वश्रेष्ठ साझेदारी भी है. इन दोनों के अलावा सलामी बल्लेबाज सौम्य सरकार ने 42 और अंत में महमूदुल्लाह ने नाबाद 46 रन का योगदान दिया. बांग्लादेश का विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ स्कोर 2015 में स्काटलैंड के खिलाफ चार विकेट पर 322 रन था जिसे उसने आज यहां पीछे छोड़ दिया और यह उनका सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी है.

बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद तमीम इकबाल और सौम्य सरकार की सलामी जोड़ी ने अच्छी शुरूआत करायी. दोनों बीच बीच में शाट लगाते रहे. पर एंडिले फेलुकवायो (52 रन देकर दो विकेट) ने अपनी टीम को पहली सफलता दिलायी. उन्होंने अपने पहले ही ओवर में दूसरी गेंद पर तमीम (16 रन) को आउट कर दिया जो बल्ले का किनारा लगने से विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक को आसान कैच दे बैठे. इस तरह पहले विकेट के लिये 60 रन की भागीदारी का अंत हुआ. फिर बांग्लादेश के भरोसेमंद शाकिबुल (84 गेंद में आठ चौके और एक छक्के) क्रीज पर उतरे और आते ही उन्होंने दुनिया के शीर्ष रैंकिंग के वनडे आलराउंडर कागिसो रबाडा पर प्वाइंट पर चौका लगाया जो एक भी विकेट नहीं झटक सके.

क्रिस मौरिस ने 73 रन देकर झटके दो विकेट
दक्षिण अफ्रीका ने 12वें ओवर में गेंदबाजी में बदलाव किया और क्रिस मौरिस (73 रन देकर दो विकेट) की शार्ट गेंद पर खतरनाक दिख रहे सौम्य सरकार भी विकेटकीपर के शानदार कैच से पवेलियन लौट गये. फिर क्रीज पर उतरे मुश्फिकर ने मौरिस के इस ओवर की अंतिम गेंद पर चौका जड़कर हाथ खोले. दोनों सलामी बल्लेबाजों के जाने से रन गति थोड़ी धीमी हुई, पर 16वें ओवर में शकिबुल ने पारी का पहला छक्का जड़ा और इसी ओवर के अंत में टीम ने 100 रन भी पूरे किये. शकिबुल और मुश्फिकर ने दक्षिण अफ्रीकी आक्रमण के खिलाफ सहजता से खेलते हुए रन जुटाना जारी रखा, इसी क्रम में शकिबुल ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया. उन्होंने मौरिस की गेंद पर फाइन लेग पर चौका जड़कर 54 गेंद में 43वां वनडे पचासा जड़ा. जिसके बाद बांग्लादेशी दर्शकों में काफी उत्साह दिखा.

शाकिबुल हसन ने बनाए 75 रन
दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने विकेट हासिल करने की मुहिम में अनुभवी आल राउंडर जेपी डुमिनी को आक्रमण पर लगाया लेकिन मुश्फिकर ने उनके ओवर में दो चौके लगाकर इरादे जाहिर कर दिये. मुश्फिकर ने भी फेलुकवायो की गेंद पर चौके से 52 गेंद में अपना 34वां अर्धशतक पूरा किया. दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज विकेट नहीं चटका पाने से थोड़े हताश दिख रहे थे और इसी दौरान बांग्लादेश ने 32वें ओवर के अंत में 200 रन भी पूरे कर लिये. शाकिबुल और मुश्फिकर ने इस दौरान 142 रन की भागीदारी कर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में तीसरे विकेट के लिये सर्वश्रेष्ठ साझेदारी भी बनायी. यह इन दोनों के बीच वनडे में पांचवीं शतकीय भागीदारी भी है जो शाकिबुल के इमरान ताहिर की गेंद पर बोल्ड होने से टूटी.

आखिर में महमूदुल्लाह ने नाबाद 46 रन बनाए
शाकिबुल ने ताहिर की गेंद को स्वीप करने का प्रयास किया जिससे उनके स्टंप उखड़ गये, इस तरह ताहिर ने अपनी टीम को महत्वपूर्ण विकेट दिलाया.  ताहिर (57 रन देकर दो विकेट) ने फिर मोहम्मद मिथुन (21) के रूप अपना दूसरा विकेट हासिल किया जिन्हें भी उन्होंने बोल्ड किया. फेलुकवायो ने अपने दूसरे स्पैल में मुश्फिकर की पारी समाप्त की जो 80 गेंद में आठ चौके से 78 रन बनाकर आउट हुए. गुरूवार को मेजबान इंग्लैंड से 104 रन से हारने वाली दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला के हेलमेट में विश्व कप के शुरूआती मैच में जोफ्रा आर्चर की गेंद लग गयी थी जिससे वह आज मैच में उपलब्ध नहीं हो पाये. और टीम के लिये एक बुरी खबर यह भी रही कि तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी (चार ओवर में बिना विकेट के 34 रन) हैमस्ट्रिंग का उपचार करते दिखायी दिये और इसके बाद गेंदबाजी के लिये नहीं उतरे.