मैनचेस्टरः भारत और न्यूजीलैंड के बीच सेमीफाइनल मुकाबला अब से कुछ ही मिनटों में शुरू होने वाला है, लेकिन इससे पहले ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम के ऊपर छाए घने काले बादलों ने मैच को लेकर ओहापोह की स्थिति पैदा कर दी है. वैसे तो पहले से ही मैच के दौरान बारिश होने की आशंका जताई जा चुकी है. गौरतलब है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्वकप का लीग मुकाबला भी बारिश के कारण नहीं खेला जा सका था.

अभी तक अंक तालिका में भारत सबसे ऊपर है. उसने जहां एक हार के साथ सेमीफाइनल का टिकट कटाया है वहीं न्यूजीलैंड को लीग स्तर पर लगातार तीन हार मिली है. आसमान में बादल को देखते हुए दोनों टीमों के अंतिम समय में अपनी रणनीति की संभावना है. अगर बादल छाए रहते हैं या बारिश हो जाती है तो हो सकता है कि भारत सिर्फ एक स्पिनर के साथ खेले और मयंक अग्रवाल को शामिल कर अपनी बल्लेबाजी मजबूत करे. माना जा रहा है कि यह विकेट बल्लेबाजी के लिए शानदार है.

भारत को शुरू से खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा हैं. वहीं कीवी टीम पर भी शुरू से ही सभी की नजरें थी. बड़े टूर्नामेंट में अधिकतर न्यूजीलैंड ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और इस बार भी वो सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही है. एक समय तो वह अंकतालिका में पहले स्थान पर थी. बाद में कुछ मैचों में हार के बाद उसे लीग दौर का अंत चौथे स्थान पर रहकर करना पड़ा. हल्की फुल्की बारिश होने की स्थिति में कीवी टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी खतरनाक हो जाता है। ट्रेंट बाउल्ट, लॉकी फग्र्यूसन, टिम साउदी और कोलिन डी ग्रांडहोम ऐसी स्थिति में किसी भी बल्लेबाजी को परेशान कर सकते हैं.