लीड्स: आईसीसी विश्व कप-2019 के लीग दौर में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि उन्होंने लीग दौर में 7-1 के स्कोर के बारे में नहीं सोचा था. भारत को लीग दौर में सिर्फ एक हार इंग्लैंड से मिली जबकि सात मैच में उसे जीत हासिल हुई. न्यूजीलैंड के खिलाफ एक मैच उसका बारिश के कारण धुल गया था.

 

लीग दौर के आखिरी मैच में शनिवार को भारत ने श्रीलंका को सात विकेट से हरा दिया. मैच के बाद कोहली ने कहा कि हम अच्छी क्रिकेट खेलना चाहते थे लेकिन हमने 7-1 की उम्मीद नहीं की थी. भारत के लिए इस तरह से एक साथ होकर खेलना सम्मान की बात है. सेमीफाइनल के लिए लगभग सभी चीजें तय हो गई हैं, लेकिन हम एक ही तरह की टीम नहीं बनना चाहते. हमें अगले दिन फिर शुरुआत करनी होगी और शानदार प्रदर्शन करना होगा. सेमीफाइनल में भिड़ने वाली टीम को लेकर कोहली ने कहा कि हमारे लिए विपक्षी टीम मायने नहीं रखती क्योंकि अगर हम अच्छा नहीं खेलेंगे तो हर कोई हमें हरा सकता है और हम अच्छा खेलेंगे तो हम किसी को भी हरा सकते हैं.

खुद के आंकलन का समय, मलिंगा की कमी खलेगी : करुणारत्ने
आईसीसी विश्व कप-2019 में निराशाजनक प्रदर्शन करने वाली श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने कहा है कि टीम को खुद का आंकलन करना होगा और जो दिक्कतें हैं उन पर काम करना होगा. श्रीलंका ने शनिवार को हेडिंग्ले मैदान पर इस विश्व कप का अपना आखिरी मैच भारत के खिलाफ खेला जिसमें उसे सात विकेट से मात मिली. यह श्रीलंका के स्टार गेंदबाज लसिथ मलिंगा का आखिरी विश्व कप भी रहा. करुणारत्ने ने कहा कि टीम को मलिंगा की कमी खलेगी.

गलती कहां हुई. चयनकर्ताओं से बात करेंगे
करुणारत्ने ने कहा कि हमें सोचना होगा कि गलती कहां हुई. चयनकर्ताओं से बात करेंगे, हाई परफॉर्मेस सेंटर से कुछ नई प्रतिभा को तलाशने को कहेंगे. अगले विश्व कप के लिए हमारे पास चार साल का लंबा वक्त है. मलिंगा के बारे में श्रीलंकाई कप्तान ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट को निश्चित ही उनकी कमी खलेगी. टेस्ट क्रिकेट में भी और वनडे में भी. उन्होंने बेहतरीन काम किया है. हर किसी की पारी का अंत होता है. हमें अब उनका विकल्प निकालना होगा क्योंकि हमारे पास वो गेंदबाज नहीं हैं जो मध्य में विकेट निकाल सकें.

लगातार विकेट खोना टीम को भारी पड़ा
श्रीलंका ने भारत के खिलाफ बेहद खराब शुरुआत की थी और 55 रनों पर ही अपने चार विकेट खो दिए थे. इसके बाद एंजेलो मैथ्यूज ने शानदार शतकीय पारी खेल टीम को 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 264 रनों का सम्मानजनक स्कोर दिया. करुणारत्ने ने कहा कि लगातार विकेट खोना उनकी टीम को भारी पड़ा. उन्होंने कहा कि हमने 280 के आस-पास का स्कोर किया जो अच्छा रहा. हम लगातार विकेट खोते रहे, लेकिन अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सके. हमें दोबारा संभलना पड़ा और इसी कारण 260 तक पहुंचे. लेकिन रोहित शर्मा और लोकेश राहुल ने शानदार बल्लेबाजी की.