बर्मिघम. आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019) में 17 वर्षों के बाद रविवार को इंग्लैंड ने इस टूर्नामेंट में अब तक की अपराजेय टीम इंडिया को हरा दिया. हालांकि इस हार के साथ भी भारतीय टीम के विश्व कप के अगले राउंड में पहुंचने की उम्मीदों पर पानी नहीं फिरा है, लेकिन भारतीय क्रिकेट के प्रशंसकों को बड़ी निराशा हुई है. बहरहाल, इंग्लैंड के हाथों मिली हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इस पराजय के कारण बताए. उन्होंने कहा कि टीम अगर बल्ले के साथ अच्छा करती तो मैच का परिणाम कुछ और ही होता. भारत को विश्व कप के 38वें मैच में इंग्लैंड के हाथों 31 रनों से हार का सामना करना पड़ा है. आपको बता दें कि इससे पहले 1992 के विश्व कप में इंग्लैंड ने भारतीय टीम को हराया था.

ICC World Cup 2019: रोहित पर भारी बेयरस्टा का शतक, इंग्लैंड ने भारत को 31 रन से हराया

मैच समाप्त होने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा, “मुझे लगता है कि वे (इंग्लैंड) एक समय 360 के करीब जा रहे थे. लेकिन हमने उन्हें उससे पहले ही रोक दिया. अगर हम बल्ले के साथ अच्छा करते तो मैच का परिणाम कुछ और ही होता. मेरा मानना है कि जब पंत और पांड्या क्रीज पर थे तो उस समय हमारे पास मौका था. लेकिन हमने लगातार विकेट गंवाना जारी रखा, जिससे बड़े स्कोर हासिल नहीं किए जा सकते. इस जीत का पूरा श्रेय इंग्लैंड को जाता है.” मेजबान इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में सात विकेट पर 337 रनों का स्कोर बनाया और फिर भारत को 50 ओवरों में पांच विकेट पर 306 रनों पर रोक दिया.

महेंद्र सिंह धोनी की बैटिंग को लेकर पूछे गए एक सवाल में कप्तान ने कहा कि उन्हें लगता है कि धोनी गेंद को सीमा पार पहुंचाने की पूरी कोशिश कर रहे थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका. कोहली ने कहा कि गेंद कुछ रुक कर आ रही थी, इसलिए आखिर में बल्लेबाजी करना मुश्किल हो गया था. हम अपना आकलन करेंगे और अगले मैच में सुधार करेंगे. उन्होंने कहा कि हमें यह स्वीकार करना होगा कि विपक्षी टीम कहीं बेहतर खेली.

(इनपुट – एजेंसियां)