बर्मिंघम: जेम्स नीशाम और कोलिन डि ग्रैंडहोम ने शतकीय साझेदारी करके न्यूजीलैंड को शाहीन शाह अफरीदी के शुरुआती झटकों से उंबारकर पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप मैच में बुधवार को यहां छह विकेट पर 237 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. न्यूजीलैंड का स्कोर एक समय पांच विकेट पर 83 रन था जिसके बाद नीशाम (112 गेंदों पर नाबाद 97) और ग्रैंडहोम (71 गेंदों पर 64 रन) ने जिम्मेदारी संभाली और छठे विकेट के लिये 132 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की. इन दोनों के अलावा केवल कप्तान केन विलियमसन (69 गेंदों पर 41) ही कुछ योगदान दे पाये.

 

न्यूजीलैंड ने अंतिम पांच ओवरों में 53 जोड़े. नीशाम ने अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाया. पाकिस्तान की तरफ से शाहीन ने दस ओवर में 28 रन देकर तीन विकेट लिये. शादाब खान और मोहम्मद आमिर ने एक एक विकेट लिया. पिच गीली होने के कारण खेल एक घंटे बाद शुरू हुआ और नम परिस्थितियों में केन विलियमसन का टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला उल्टा पड़ गया. पाकिस्तानी तेज गेंदबाजों को अच्छा मूवमेंट मिल रहा था और उन्होंने परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाकर न्यूजीलैंड का शीर्ष क्रम झकझोर दिया. दूसरे छोर से गेंद संभालने वाले मोहम्मद आमिर ने अपनी पहली गेंद पर ही मार्टिन गुप्टिल को बोल्ड किया जो टूर्नामेंट में रन बनाने के लिये जूझ रहे हैं. इसके बाद शाहीन ने कहर बरपाया. उन्होंने कोलिन मुनरो (12), रोस टेलर (तीन) और टाम लैथम (एक) को आउट करके स्टेडियम में बड़ी संख्या में मौजूद पाकिस्तानी दर्शकों को मदहोश कर दिया.

मुनरो ने अतिरिक्त उछाल वाली गेंद पर कदमों का इस्तेमाल किये बिना शाट खेलने की कोशिश में स्लिप में कैच दिया. टेलर का सरफराज अहमद ने दायीं तरफ डाइव लगाकर एक हाथ से बेहतरीन कैच लपका. लैथम रक्षात्मक शॉट खेलना चाहते थे लेकिन गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर के पास पहुंची. पिछले दो मैचों में शतक जड़ने वाले विलियमसन भी दबाव में बड़ी पारी नहीं खेल पाये. शादाब खान की बेहतरीन लेग ब्रेक उनके बल्ले को चूमकर सरफराज के दस्तानों में समा गयी जिससे न्यूजीलैंड को गहरे संकट में डाल दिया.

नीशाम और ग्रैंडहोम ने ऐसी विषम परिस्थितियों में बखूबी जिम्मेदारी संभाली लेकिन विकेट बचाये रखने का दबाव दोनों पर साफ दिख रहा था. इन दोनों ने सहजता से रन बटोरे. नीशाम ने 77 गेंदों पर अपना छठा वनडे अर्धशतक पूरा किया. ग्रैंडहोम ने वनडे में अपने तीसरे अर्धशतक के लिये 63 गेंदें खेली. आमिर पर टूर्नामेंट में अब तक छक्का नहीं लगा था लेकिन नीशाम ने डेथ ओवरों में उनकी गेंद छह रन के लिये भी भेजी. ग्रैंडहोम हालांकि तेजी से दूसरा रन लेने के प्रयास में रन आउट हो गये जिससे 48वें ओवर जाकर यह साझेदारी टूटी. ग्रैंडहोम ने छह चौके और एक छक्का तथा नीशाम ने पांच चौके और तीन छक्के लगाये. इनमें वहाब रियाज की पारी की आखिरी गेंद पर लगाया गया छक्का भी शामिल है.