लंदन: हारिस सोहेल की आकर्षक तूफानी पारी तथा बाबर आजम के अर्धशतक की मदद से पाकिस्तान ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्व कप मैच में रविवार को यहां सात विकेट पर 308 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया. सोहेल ने अंतिम एकादश में जगह मिलने के मौके का फायदा उठाते हुए 59 गेंदों पर 89 रन बनाये जिसमें नौ चौके और तीन छक्के शामिल हैं. बाबर (80 गेंदों पर 69 रन) ने पारी संवारी जबकि फखर जमां (50 गेंदों पर 44) और इमाम उल हक (58 गेंदों पर 44) ने पहले विकेट के लिये 81 रन जोड़कर पाकिस्तान को ठोस शुरुआत दी थी.

 

सोहेल ने बाबर के साथ चौथे विकेट के लिये 81 और इमाद वसीम (23) के साथ पांचवें विकेट के लिये 71 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की. दक्षिण अफ्रीका की तरफ से लेग स्पिनर इमरान ताहिर (41 रन देकर दो) और लुंगी एनगिडी (64 रन देकर तीन) सबसे सफल गेंदबाज रहे. इन दोनों टीमों के लिये यह मैच करो या मरो जैसा था. ऐसे में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अच्छी शुरुआत की. फखर जमां और इमाम ने शुरू में सहजता से बल्लेबाजी की और इस बीच रन गति भी बनाये रखी. यह दोनों जब दक्षिण अफ्रीका लिये परेशानी का सबब बनते जा रहे थे तब ताहिर ने उसे वापसी दिलायी.

फखर जमां आउट होने वाले पहले बल्लेबाज थे. उन्होंने ताहिर की गेंद पर हाशिम अमला को कैच थमाने से पहले अपनी 50 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का लगाया. ताहिर ने इसके तुरंत बाद इमाम का अपनी ही गेंद पर एक हाथ से बेहतरीन कैच लेकर दक्षिण अफ्रीका को दूसरी सफलता दिलायी. इमाम की पारी में छह चौके शामिल हैं. ताहिर ने इससे पहले क्रिस मौरिस की गेंद पर फखर जमां का सीमा रेखा पर कैच लेने का दावा भी किया लेकिन रीप्ले से साफ हो गया कि गेंद जमीन पर लगी थी. इसके बाद दर्शकों ने पाकिस्तान में जन्में ताहिर की हूटिंग भी की.

 

ताहिर जब गेंदबाजी के लिये आये तो फिर से दर्शकों ने उन्हें निशाना बनाया लेकिन यह लेग स्पिनर बदला चुकता करने में सफल रहा. फखर ने स्कूप करने के प्रयास में स्लिप में कैच दे दिया. ताहिर ने इसका जश्न अपने चिर परिचित अंदाज में दौड़कर मनाया लेकिन उसमें आक्रामकता अधिक थी. इस लेग स्पिनर को नये बल्लेबाज मोहम्मद हफीज (20) का भी विकेट मिल जाता लेकिन क्विंटन डिकाक उनका कैच नहीं ले पाये. कामचलाऊ स्पिनर एडेन मार्कराम ने हालांकि हफीज को पगबाधा आउट करके उनकी पारी लंबी नहीं खिंचने दी.

सोहेल ने बेहद सकारात्मक अंदाज में क्रीज पर कदम रखा और आते ही आक्रामक रवैया अपनाया. कैगिसो रबाडा पर बैकवर्ड प्वाइंट पर लगाया गया उनका छक्का दर्शनीय था. दूसरी तरफ से बाबर अच्छी तरह से पारी संवार रहे थे लेकिन एंडिल फेलुकवायो की गेंद पर उनका लॉफ्टेड शॉट डीप कवर पर खड़े लुंगी एनगिडी के पास चला गया. बाबर ने सात चौके लगाये. सोहेल हालांकि अपने पूरे रंग में थे. उन्होंने मौरिस की गेंद पर चौका जड़कर 38 गेंदों पर विश्व कप में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया और इसके बाद भी अपनी आक्रामकता जारी रखी. एनगिडी ने अपने आखिरी दो ओवरों में इमाद वसीम और वहाब रियाज के अलावा सोहेल का भी विकेट लिया.