लंदन: हारिस सोहेल की तूफानी अर्धशतकीय पारी तथा गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से पाकिस्तान ने रविवार को यहां दक्षिण अफ्रीका को 49 रन से हराकर विश्व कप सेमीफाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को जीवंत रखा. पाकिस्तान ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 308 रन बनाये. इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम नौ विकेट पर 259 रन ही बना पायी. यह दक्षिण अफ्रीका की पांचवीं हार है और सात मैचों में केवल तीन अंक होने के कारण वह सेमीफाइनल की दौड़ से भी बाहर हो गया है. पाकिस्तान के छह मैचों में पांच अंक हो गये हैं.

 

पाकिस्तानी पारी का आकर्षण सोहेल के 59 गेंदों पर बनाये गये 89 रन रहे जिसमें नौ चौके और तीन छक्के शामिल हैं. बाबर आजम (80 गेंदों पर 69 रन) ने पाकिस्तानी पारी संवारी जबकि फखर जमां (50 गेंदों पर 44) और इमाम उल हक (58 गेंदों पर 44) ने पहले विकेट के लिये 81 रन जोड़कर पाकिस्तान को ठोस शुरुआत दी थी. दक्षिण अफ्रीका की तरफ से केवल कप्तान फाफ डुप्लेसिस (79 गेंदों पर 63) ही कुछ संघर्ष कर पाये. क्विंटन डिकाक (60 गेंदों पर 47), रोसी वान डर डुसेन (36) और डेविड मिलर (31) भी बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे. एंडिल फेलुकवायो (32 गेंदों पर नाबाद 46) हार का अंतर ही कम कर पाये. लेग स्पिनर शादाब खान (50 रन देकर तीन), वहाब रियाज (46 रन देकर तीन), मोहम्मद आमिर (49 रन देकर दो) और शाहीन अफरीदी (54 रन देकर एक) पाकिस्तान के सफल गेंदबाज रहे.

हाशिम अमला (दो) की खराब फार्म जारी रहने के कारण दक्षिण अफ्रीका को अच्छी शुरुआत नहीं मिल पायी. आमिर ने उन्हें अपनी पहली गेंद पर ही पगबाधा आउट किया. डिकाक और डुप्लेसिस ने दूसरे विकेट के लिये 87 रन जोड़कर टीम को इस झटके से उबारने की कोशिश की लेकिन 12 रन के अंदर दो विकेट गंवाने से दक्षिण अफ्रीका फिर से बैकफुट पर चला गया. शुरू से रन बनाने के लिये संघर्ष करने वाले डिकाक दो छक्के जड़कर अपने रंग में लौटे लेकिन शादाब पर स्वीप करना उन्हें महंगा पड़ा और अर्धशतक से चूक गये. उन्होंने 60 गेंद की पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाये. उनका स्थान लेने के लिये आये एडेन मार्कराम (सात) को शादाब ने बोल्ड किया. डुप्लेसिस ने 66 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन रनों और गेंदों के बीच बढ़ते अंतर का दबाव उन पर साफ दिख रहा था. अपना दूसरा स्पैल करने आये आमिर की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर हवा में लहरा गयी जिससे दक्षिण अफ्रीकी उम्मीदों को करारा झटका लगा.

वान डर डुसेन और मिलर ने पांचवें विकेट के लिये 53 रन जोड़े लेकिन इन दोनों के छह गेंदों के अंदर पवेलियन लौटने से दक्षिण अफ्रीका की धुंधली सी उम्मीद भी समाप्त हो गयी. शादाब ने वान डर डुसेन के रूप में अपना तीसरा विकेट लिया जबकि शाहीन अफरीदी ने मिलर को बोल्ड किया. अंतिम क्षणों में फेलुकवायो ने छह चौके लगाये लेकिन इस बीच रियाज ने दूसरे छोर से तीन विकेट भी लिये. इससे पहले सोहेल ने बाबर के साथ चौथे विकेट के लिये 81 और इमाद वसीम (23) के साथ पांचवें विकेट के लिये 71 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की. दक्षिण अफ्रीका की तरफ से लेग स्पिनर इमरान ताहिर (41 रन देकर दो) और लुंगी एनगिडी (64 रन देकर तीन) सबसे सफल गेंदबाज रहे.

फखर और इमाम ने शुरू में सहजता से बल्लेबाजी की और इस बीच रन गति भी बनाये रखी. ताहिर ने फखर को आउट करके यह साझेदारी तोड़ी. इस लेग स्पिनर ने इसके तुरंत बाद इमाम का अपनी ही गेंद पर एक हाथ से बेहतरीन कैच लिया. इमाम की पारी में छह चौके शामिल हैं. ताहिर ने इससे पहले क्रिस मौरिस की गेंद पर फखर का सीमा रेखा पर कैच लेने का दावा भी किया लेकिन रीप्ले से साफ हो गया कि गेंद जमीन पर लगी थी. इसके बाद दर्शकों ने पाकिस्तान में जन्में ताहिर की हूटिंग भी की. ताहिर जब गेंदबाजी के लिये आये तो फिर से दर्शकों ने उन्हें निशाना बनाया लेकिन यह लेग स्पिनर बदला चुकता करने में सफल रहा. फखर ने स्कूप करने के प्रयास में स्लिप में कैच दे दिया. ताहिर ने इसका जश्न अपने चिर परिचित अंदाज में दौड़कर मनाया लेकिन उसमें आक्रामकता अधिक थी. फखर ने छह चौके और एक छक्का लगाया.

ताहिर को नये बल्लेबाज मोहम्मद हफीज (20) का भी विकेट मिल जाता लेकिन डिकाक उनका कैच नहीं ले पाये. कामचलाऊ स्पिनर मार्कराम ने हालांकि हफीज को पगबाधा आउट करके उनकी पारी लंबी नहीं खिंचने दी. सोहेल ने आते ही आक्रामक रवैया अपनाया. कैगिसो रबाडा पर बैकवर्ड प्वाइंट पर लगाया गया उनका छक्का दर्शनीय था. दूसरी तरफ से बाबर अच्छी तरह से पारी संवार रहे थे लेकिन एंडिल फेलुकवायो की गेंद पर उनका लॉफ्टेड शॉट डीप कवर पर खड़े लुंगी एनगिडी के पास चला गया. बाबर ने सात चौके लगाये. सोहेल हालांकि अपने पूरे रंग में थे. उन्होंने मौरिस की गेंद पर चौका जड़कर 38 गेंदों पर विश्व कप में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया और इसके बाद भी अपनी आक्रामकता जारी रखी. एनगिडी ने अपने आखिरी दो ओवरों में इमाद वसीम और वहाब रियाज के अलावा सोहेल का भी विकेट लिया.