लीड्स: अपने बल्ले से प्रतिदिन नए रिकार्ड बना रहे भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा है कि वह कभी भी रिकार्ड के बारे में नहीं सोचते हैं क्योंकि उनका ध्यान टीम को जीत दिलाने पर होता है. रोहित ने शनिवार को हेडिंग्ले मैदान पर खेले गए आईसीसी विश्व कप-2019 के मैच में श्रीलंका के खिलाफ 103 रनों की पारी खेली और भारत को सात विकेट से जीत दिलाने में अहम योगदान दिया. यह रोहित का इस विश्व कप में पांचवां शतक है और इसी के साथ वह एक विश्व कप में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं.

रोहित को बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच भी चुना गया. पुरस्कार लेने के बाद रोहित ने कहा कि मैंने पांच शतक लगाने के बारे में नहीं सोचा था. मैं पहले भी यह बात कहता रहा हूं कि मेरा ध्यान मैदान पर जाकर अपना काम करने पर होता है. मैं किसी तरह के रिकार्ड के बारे में नहीं सोचता. अगर मैं अच्छा खेलूंगा तो इस तरह की चीजें होती रहेंगी. रोहित ने कहा कि उनकी पारी में शॉट्स का चयन काफी अहम हो गया है. भारत के उप-कप्तान ने कहा कि मेरे लिए शॉट्स का चयन काफी अहम हो गया है. मैं गणित लगाता रहता हूं कि मुझे किस तरह से अपनी पारी बढ़ानी है. मैंने इसे अपनी अतीत की पारियों से सीखा है. यह मैच श्रीलंका के दिग्गज तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा का आखिरी विश्व कप मैच था. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मलिंगा के कप्तान रहे रोहित ने कहा कि क्रिकेट जगत को मलिंगा की कमी खलेगी.

 

रोहित ने कहा कि वह श्रीलंका के लिए चैम्पियन गेंदबाज है और मुंबई इंडियंस के भी. उन्होंने इतने वर्षो में बताया है कि क्यों टीम उन पर इतना भरोसा करती है. मैंने उन्हें काफी करीब से देखा है और इसलिए कह सकता हूं कि क्रिकेट जगत को उनकी कमी खलेगी. रोहित ने कहा भारत सेमीफाइनल में किस टीम से भिड़ेगा इसके बारे में टीम नहीं सोच रही है. रोहित ने कहा कि एक टीम के तौर पर हम इस बारे में नहीं सोच रहे हैं कि सेमीफाइनल में हमारा सामना किससे होगा. आज हमने बेहतरीन जीत हासिल की है और हम इसका जश्न मनाना चाहते हैं. (इनपुट एजेंसी)