मैनचेस्टर: एंजेलो मैथ्यूज (113) के शतक के दम पर श्रीलंका शनिवार को आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने अंतिम मैच में भारत के सामने 265 रनों का सम्मानजनक लक्ष्य रखने में सफल रही है. हेडिंग्ले स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका एक समय 55 रनों पर ही अपने चार विकेट खो चुकी थी, लेकिन अभी तक बल्ले से विफल होते आ रहे मैथ्यूज ने आखिरी मैच में टीम को संभाला और 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 264 रनों का सम्मानजनक स्कोर प्रदान किया.

 

वह 49वें ओवर की दूसरी गेंद जसप्रीत बुमराह का शिकार बने. मैथ्यूज ने 128 गेंदों का सामना कर 10 चौके और दो छक्कों की मदद से शतक जमाया. मैथ्यूज को साथ मिला लाहिरू थिरिमाने का जिन्होंने 68 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से 53 रनों की पारी खेली. इन दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 124 रनों की साझेदारी की. कुलदीप यादव ने थिरिमाने को आउट कर भारत को पांचवीं सफलता दिलाई. इन दोनों की साझेदारी जमने से पहले कप्तान दिमुथ करुणारत्ने (10), कुशल परेरा (18), कुशल मेंडिस (3) और अविश्का फर्नाडो (20) पवेलियन लौट चुके थे. करुणारत्ने और परेरा की सलामी जोड़ी को जसप्रीत बुमराह ने पवेलियन में बैठाया. मेंडिस, रवींद्र जडेजा का शिकार बने और फर्नाडो का विकेट हार्दिक पांड्या के हिस्से आया.

छठा विकेट मैथ्यूज के रूप में गिरा. आखिरी ओवर में थिसारा परेरा दो के निजी स्कोर पर आउट हुए. धनंजय डी सिल्वा 29 रन बनाकर नाबाद लौटे. उनके साथ इसुरु उदाना एक रन पर नाबाद रहे. भारत के लिए बुमराह ने तीन विकेट लिए. भुवनेश्वर, हार्दिक, जडेजा और कुलदीप को एक-एक विकेट मिला.