साउथम्पटन: भारतीय कप्तान विराट कोहली पर शनिवार को यहां अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप मैच के दौरान आक्रामक तरीके से अपील करने के लिये उनकी मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया. आईसीसी विज्ञप्ति के अनुसार, कोहली को खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ की आईसीसी की आचार संहिता की धारा 2.1 के उल्लघंन का दोषी पाया गया जो एक अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अत्यधिक अपील से संबंधित है.Also Read - IND vs ENG: डरहम की मुख्य पिच पर टीम इंडिया ने की प्रैक्टिस, Rishabh Pant ने भी चलाया बल्ला

Also Read - शोएब अख्तर ने बताया, 'विराट कोहली से आगे निकलने' के लिए क्या करें बाबर आजम

शनिवार को मैच के दौरान यह घटना अफगानिस्तान की पारी के 29वें ओवर में घटी जब कोहली अंपायर अलीम डार की ओर बढ़े. तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की गेंद पर रहमत शाह के पगबाधा आउट करने की अपील की गयी थीं. यह आईसीसी आचार संहिता के लेवल एक का उल्लघंन है जिसमें न्यूनतम सजा अधिकारी की फटकार होती है जबकि अधिकतम सजा खिलाड़ी की मैच फीस से 50 प्रतिशत कटौती, एक या दो डिमैरिट अंक होते हैं. कोहली ने अपराध स्वीकार कर इस जुर्माने को स्वीकार लिया है जो मैच रैफरियों के एमिरेट्स आईसीसी एलीट पैनल के मैच रैफरी क्रिस ब्राड द्वारा लगाया गया था. इसलिये अधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ीं Also Read - India tour of England: अभ्यास मैच में चोटिल हुए भारतीय खिलाड़ी; स्क्वाड में केवल 22 फिट क्रिकेटर मौजूद

इसके अलावा कोहली के अनुशासनात्मक रिकार्ड में एक डिमैरिट अंक जुड़ गया है जो सितंबर 2016 में संशोधित संहिता के आने के बाद उनका दूसरा अपराध है. कोहली के अब दो डिमैरिट अंक हैं. उन्हें 15 जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ प्रिटोरिया टेस्ट के दौरान एक डिमैरिट अंक मिला था. जब एक खिलाड़ी 24 महीने के अंदर चार या इससे ज्यादा अंक पर पहुंच जाता है तो इन्हें निलंबन अंक में बदल दिया जाता है और खिलाड़ी प्रतिबंधित हो जाता है.