मैनचेस्टर. विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज और भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की घातक बैटिंग तो आपने देखी ही होगी, लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कोहली बैटिंग और फील्डिंग के साथ-साथ गेंदबाजी भी कर लेते हैं. जी हां, यह खुलासा खुद विराट कोहली ने ही किया है. इंग्लैंड के मैनचेस्टर में मंगलवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले पहले सेमीफाइनल मुकाबले से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोहली ने इस बात का खुलासा किया. कोहली से जब टीम में छठे गेंदबाज को रखे जाने को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि वह खुद भी गेंदबाजी कर सकते हैं. कोहली ने मजाकिया लहजे में सवाल का जवाब देते हुए कहा, ‘हम पांच गेंदबाजों के साथ मैच खेलने की योजना बना रहे हैं. जहां तक छठे बॉलर का सवाल है तो मैं खुद भी बड़ा घातक गेंदबाज हूं. जब तक मैं पिच पर गिर नहीं जाता, मैं अच्छी गेंदबाजी कर सकता हूं.’

11 साल बाद फिर महामुकाबला, क्या कोहली दोहरा पाएंगे विलियम्सन के खिलाफ वो इतिहास?

भारत-न्यूजीलैंड के बीच होने वाले सेमीफाइनल मुकाबले से पहले भारतीय कप्तान का यह ‘गेम-प्लान’ अगर मैदान पर हकीकत बना, तो न्यूजीलैंड के लिए भारी पड़ सकता है. क्योंकि सोमवार को इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली को जब 11 साल पहले के अंडर-19 विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबले की बात याद दिलाई गई, तो सभी हैरान रह गए. अंडर-19 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ही थे. वहीं न्यूजीलैंड की कप्तानी केन विलियमसन (Ken Williamson) कर रहे थे. हालांकि कोहली ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस बार गेंदबाजी करने की उनकी कोई योजना नहीं है. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने 11 साल पहले अंडर-19 विश्वकप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन का विकेट लिया था लेकिन मौजूदा आईसीसी विश्व कप में मंगलवार को खेले जाने वाले सेमीफाइनल मुकाबले में ऐसा करने की उनकी कोई योजना नहीं है.

सेमीफाइनल में रोहित शर्मा तोड़ सकते हैं सचिन के दो विश्व रिकॉर्ड

मलेशिया में 2008 में खेले गये अंडर-19 विश्व कप में भी कोहली और विलियमसन अपनी-अपनी टीमों का नेतृत्व कर रहे थे और कामचलाऊ मध्यम तेज गति से गेंदबाजी करने वाले कोहली ने उस मैच में विलियमसन का विकेट लिया था जो स्टंप आउट हुए थे. भारतीय टीम इस मुकाबले को जीतने के बाद फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को शिकस्त देकर चैम्पियन बनी थी. मंगलवार को दोनों टीमों के बीच होने वाले सेमीफाइनल मुकाबाले की पूर्व संध्या पर जब कोहली से अंडर-19 विश्व कप के उस मैच के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘कल जब मैं विलियमसन से मिलूंगा तो उसके बारे में याद दिलाउंगा. मुझे उम्मीद है कि उसे भी याद होगा. यह जानना शानदार है कि अंडर-19 विश्व कप के 11 वर्षों के हम राष्ट्रीय टीमों का नेतृत्व कर रहे हैं.’’ तीस साल के भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘हमने इसके बारे में पहले भी बात की है. हमारी और उनकी टीम के अलावा दूसरी टीमों में भी उस विश्व कप (अंडर-19) के कई खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है और अभी भी खेल रहे है. यह देखना काफी अच्छा है.’’

कोहली ने कहा, ‘‘यह अच्छी यादें है और ऐसा फिर से हो रहा है यह जानकर दोनों को अच्छा लगेगा. ना तो मैंने ना ही उन्होंने सोचा होगा कि एकबार फिर से ऐसा होगा, लेकिन यह बहुत अच्छी चीज है.’’ कोहली से जब उस मैच में विलियमसन के विकेट के बारे में पूछा गया तो उन्हें इसके बारे में याद नहीं था. भारतीय कप्तान ने सवालिया अंदाज में कहा, ‘‘मैंने केन (विलियमसन) का विकेट लिया था? मैंने ऐसा किया था? मुझे नहीं पता कि यह फिर से संभव है या नहीं. ’’ कोहली को विलियमसन की प्रतिभा के बारे में 2008 में हुए अंडर-19 विश्व कप से एक साल पहले ही पता चल गया था.

सेमीफाइनल से पहले न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ने कहा- इस इंडियन बॉलर को झेलना नामुमकिन

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘मुझे याद है 2007 में हमारी टीम न्यूजीलैंड गई थी. हम अंडर-19 टेस्ट मैच खेल रहे थे और उन्होंने हमारे एक तेज गेंदबाज के खिलाफ बैकफुट से शानदार शाट खेला. मैं स्लिप में क्षेत्ररक्षण कर रहा था जहां मैंने साथ खड़े खिलाड़ी को कहा था, ‘ मैंने किसी को इतना अच्छा शॉट लगाते नहीं देखा है.’ वह हमेशा से शानदार खिलाड़ी रहे हैं. आप हमारी अंडर-19 टीम के दौरे और विश्व कप को देख सकते हैं, वह उनके लिए खास खिलाड़ी हैं.’’ मौजूदा विश्व कप में विलियमसन की बल्लेबाजी के महत्व को ऐसे भी देखा जा सकता है कि उन्होंने अब तब 481 रन बनाए हैं जो टीम के रनों का 29 प्रतिशत है. इसमें दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई मैच जीताऊ पारी भी शामिल है. भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘हमें हमेशा से पता था कि उनके पास विशेष क्षमता है. वह हर मैच में योगदान कर रहे और टीम को नियंत्रित कर रहे हैं. रोस टेलर के साथ वह टीम के मुख्य खिलाड़ी है जिन्होंने निरंतर प्रदर्शन किया है.’’

(इनपुट – एजेंसी)