चेस्टर ली स्ट्रीट (इंग्लैंड): निकोलस पूरन (118) के शानदार शतक के बावजूद वेस्टइंडीज को यहां रिवरसाइड ग्राउंड पर खेले गए आईसीसी विश्व कप-2019 के 39वें मैच में सोमवार को श्रीलंका के हाथों 23 रनों से हार का सामना करना पड़ा. श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 338 रनों का विशाल स्कोर बनाया और फिर वेस्टइंडीज को 50 ओवर में नौ विकेट पर 315 रनों पर रोक दिया.

वर्ष 1996 की चैंपियन श्रीलंका की इस विश्व कप में आठ मैचों में यह तीसरी जीत है और उसके अब आठ अंक हो गए हैं. वहीं, दो बार की विश्व विजेता वेस्टइंडीज को आठ मैचों में छठी हार का सामना करना पड़ा है. हालांकि दोनों टीमें सेमीफाइनल की होड़ से पहले ही बाहर हो चुकी है. श्रीलंका से मिले 339 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम शुरुआत से ही नियमित अंतराल पर विकेट गंवाती चली और उसने 145 के स्कोर तक अपने पांच बल्लेबाजों का विकेट खो दिया. इन पांच बल्लेबाजों में क्रिस गेल (35), सुनील एम्ब्रिस (5), शाई होप (5), शिमरोन हेटमेयर (29) और कप्तान जेसन होल्डर (26) के विकेट शामिल हैं.

निकोलस पूरन ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और अपने करियर का पहला शतक पूरा किया. उन्होंने होल्डर के साथ पांचवें विकेट के लिए 61, कार्लोस ब्रैथवेट (8) के साथ छठे विकेट के लिए 54 और फेबिएन एलेन (51) के साथ सातवें विकेट के लिए 83 रनों की साझेदारी कर वेस्टइंडीज को मैच में बनाए रखा. विंडीज की टीम को अंतिम 18 गेंदों पर जीत के लिए 31 रन बनाने थे कि तभी दिसंबर 2017 के बाद से पहली बार गेंदबाजी करने आए एंजेलो मैथ्यूज ने पूरन को विकेटकीपर कुशल परेरा के हाथों कैच कराकर मैच को श्रीलंका की ओर मोड़ दिया. मैथ्यूज ने अपने इस ओवर में मात्र तीन रन दिए और पूरन का एक महत्वपूर्ण विकेट भी निकाला. पूरन ने 103 गेंदों की शतकीय साहसिक पारी में 11 चौके और चार छक्के लगाए. एलेन ने 32 गेंदों की तेजतर्रार पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया.

ओशाने थॉमस ने एक और शेल्डन कॉटरेल तथा शेनन गेब्रियल क्रमश : सात और तीन बनाकर नाबाद लौटे. श्रीलंका की ओर से लाथि मलिंगा ने तीन और कासुन रजिथा, जैफरी वेंडरसे तथा मैथ्यूज ने एक-एक विकेट लिए. इससे पहले, अविश्का फर्नांडो (104) ने अपनी सर्वश्रेष्ठ शतकीय पारी के दम पर श्रीलंका को छह विकेट पर 338 रनों के विशाल स्कोर तक पहुंचाया. श्रीलंका ने इस विश्व कप में पहली बार 300 या उससे ज्यादा का स्कोर बनाया. श्रीलंका का वेस्टइंडीज के खिलाफ और इंग्लैंड में यह सर्वोच्च वनडे स्कोर है.

21 वर्षीय फर्नांडो ने 103 गेंदों की अपनी शतकीय पारी के दौरान नौ चौके और दो छक्के लगाए. उन्होंने 100 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया. फनार्डो का वनडे में यह पहला शतक है. उनकी इस पारी के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला. टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंकाई टीम को कप्तान दिमुथ करुणारत्ने (32) और कुशल परेरा (64) ने पहले विकेट के लिए 15.2 ओवरों में 93 रन की साझेदारी कर मजबूत शुरूआत दी. करुणारत्ने के आउट होने के बाद श्रीलंका ने 104 के स्कोर पर परेरा का भी विकेट गंवा दिया. परेरा ने पारी में आठ चौके लगाए और अपने करियर का 14वां अर्धशतक पूरा किया.

परेरा के आउट होने के बाद फनार्डो ने कुशल मेंडिस (39) के साथ तीसरे विकेट के लिए 85, एंजेलो मैथ्यूज (26) के साथ चौथे विकेट के लिए 58 और लाहिरू थिरिमाने (नाबाद 45) के साथ पांचवें विकेट के लिए 67 रनों की साझेदारी श्रीलंका को 300 के पार पहुंचा दिया. फनार्डो 47.2 ओवर में टीम के 314 के स्कोर पर पांचवें बल्लेबाज के रूप में आउट हुए. थिरिमाने ने 33 गेंदों की नाबाद पारी में चार चौके लगाए. इसुरु उदाना ने तीन और धनंजय डी सिल्वा ने नाबाद छह रन बनाए. वेस्टइंडीज की ओर से कप्तान जेसन होल्डर ने दो और फेबिएन एलेन, शेल्डन गेब्रियल तथा ओशाने थोमस ने एक-एक विकेट लिया.