बर्मिघमः ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे दूसरे सेमीफाइनल की कहानी भी भारत-न्यूजीलैंड मैच की ही तरह दिख रही है. जिस तरह न्यूजीलैंड पहली पारी में रनों के लिए संघर्ष करता रहा, ऑस्ट्रेलिया भी वैसे ही एक-एक रन के लिए तरसता दिख रहा है. अगर आप मैच देख रहे हैं तो स्कोर-बोर्ड पर टंगे रनों के आंकड़े से यह समझ भी रहे होंगे. बहरहाल, ताजा समाचार यह है कि 48 ओवर खत्म होने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट गंवाकर 218 रन बना लिए हैं.

लंबे समय से क्रीज पर जमे बल्लेबाज स्टीव स्मिथ आखिरी ओवर में ठीक उसी तरह रन आउट हो गए, जिस तरह भारत की पारी में महेंद्र सिंह धोनी का विकेट गिरा था. स्मिथ के आउट होने के तुरंत बाद ही मिचेल स्टार्क भी पवेलियन लौट गए. आखिरी के दो ओवरों में ऑस्ट्रेलिया का स्कोर बढ़ाने की जिम्मेदारी लियॉन और बेहरेनडॉर्फ के ऊपर आ गई. मगर ये दोनों मिलकर भी 50 ओवर का खेल पूरा नहीं कर सके और बेहरेनडॉर्फ 49वें ओवर की आखिरी गेंद पर अपना विकेट दे बैठे. ऑस्ट्रेलिया ने 49 ओवरों में कुल 223 रन बनाकर इंग्लैंड को आसान सा लक्ष्य दिया है.

इससे पहले एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे आईसीसी विश्व कप-2019 के दूसरे सेमीफाइनल मैच में इंग्लैंड के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम ने बेहद खराब शुरुआत की है. ऑस्ट्रेलिया ने उस्मान ख्वाजा की जगह पीटर हैंड्सकॉम्ब को अपने अंतिम एकादश में शामिल किया है. ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वार्नर और एरॉन फिन्च आउट हो गए. इसके कुछ ही देर बाद पीटर हैंड्सकॉम्ब भी चलते बने. कंगारू टीम के स्टीव स्मिथ और एलेक्स कैरी ने अपनी टीम की पारी को संभाला. दोनों ने मिलकर 25 ओवर में ऑस्ट्रेलिया का रन स्कोर 100 के पार पहुंचाया.

ऑस्ट्रेलिया का स्कोर कितना धीमा था इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 26वें ओवर में टीम का स्कोर महज 111 रन था. हालांकि स्टीव स्मिथ ने 85 रनों की पारी खेली. अन्य बल्लेबाजों ने कुछ देर तक उनका साथ भी दिया. लेकिन सभी मिलकर भी ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 250 के आसपास नहीं ले जा पाए. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया. विपक्षी इंग्लैंड ने अपने अंतिम एकादश में कोई बदलाव नहीं किया है. इस मैच को जीतने वाली टीम 14 जुलाई को लॉर्ड्स के मैदान पर न्यूजीलैंड के साथ फाइनल खेलेगी.

टीमें :
इंग्लैंड : इयोन मोर्गन (कप्तान), जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो, जोस बटलर (विकेटकीपर), जोए रूट, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स, लियाम प्लंकट, जोफ्रा आर्चर, आदिल राशिद, मार्क वुड.

आस्ट्रेलिया : एरॉन फिंच (कप्तान), डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ, पीटर हैंड्सकॉम्ब, मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), ग्लैन मैक्सवेल, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, जेसन बेहरनडार्फ, नाथन लॉयन.