इंडियन प्रीमियर लीग के बाद टीम इंडिया का अगला मिशन पहली बार इंग्लैंड में आयोजित हो रहे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के खिताब पर है. भारत और न्यूजीलैंड की टीम ने 18 जून को साउथैम्पटन में होने वाले इस फाइनल के लिए क्वॉलिफाई किया है. फिलहाल न्यूजीलैंड के 10 खिलाड़ी आईपीएल में ही खेल रहे हैं. दुनिया भर में फैले कोविड-19 वायरस के संक्रमण के चलते न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों का इस चैंपियनशिप से पहले अपने घर लौटना संभव नहीं होगा. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि ये खिलाड़ी भारतीय खिलाड़ियों के ही साथ इस चैंपियनशिप के लिए इंग्लैंड रवाना हो सकते हैं.Also Read - Bangladesh का दौरा करेगी टीम, मई में खेले जाएंगे 2 टेस्ट मैच

न्यूजीलैंड में कड़े क्वॉरंटीन नियमों के कारण कीवी खिलाड़ियों का स्वदेश लौटना संभव नहीं है. केन विलियमसन, ट्रेंट बोल्ट, काइल जैमीसन और मिशेल सेंटनेर न्यूजीलैंड के उन 10 खिलाड़ियों में से हैं जो आईपीएल खेल रहे हैं. न्यूजीलैंड को टेस्ट चैंपियनशिप से पहले 2 जून से इंग्लैंड में होने वाली दो टेस्ट मैचों की सीरीज भी खेलनी है. इस सीरीज के लिए कीवी टीम का ऐलान किया है. Also Read - IPL 2022: दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान पद से हटाए जाने पर बोले श्रेयस अय्यर-ये बड़ा झटका था

भारत के खिलाफ होने वाली वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिए 15 सदस्यीय टीम चुनी जाएगी. न्यूजीलैंड क्रिकेट खिलाड़ियों के संघ के मुख्य कार्यकारी हीथ मिल्स ने कहा, ‘वे घर नहीं लौट सकते क्योंकि दो सप्ताह के पृथकवास में रहना होगा. वे राउंड रॉबिन दौर तक भारत में ही हैं. उसके बाद अंतिम दौर तक भी रह सकते हैं.’ Also Read - PAK vs AUS: 24 साल बाद पाकिस्तान का दौरा करेगा ऑस्ट्रेलिया, जारी हुआ पूरा Full Schedule

उन्होंने स्टफ.कॉम.न्यूजीलैंड से कहा, ‘बहुत उड़ानें भी नहीं है तो वापिस लौटना संभव नहीं होगा. हम न्यूजीलैंड क्रिकेट से बात कर रहे हैं, जो बीसीसीआई और आईसीसी के संपर्क में हैं.’

उन्होंने कहा कि आईपीएल खेल रहे न्यूजीलैंड के क्रिकेटर भारत से उड़ानें रद्द होने के कारण चिंतित हैं. लेकिन किसी ने घर लौटने का संकेत नहीं दिया है. उड़ानें 11 अप्रैल को रद्द की गई जो बुधवार की रात से फिर शुरू हो जाएंगी. मिल्स ने कहा कि खिलाड़ी आईपीएल बायो बबल में सुरक्षित महसूस कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘एक होटल में चार टीमें हैं और होटल लॉकडाउन है. एक शहर से दूसरे शहर में जाते समय वे जोखिम में हैं लेकिन सुरक्षा प्रोटोकॉल का पूरा पालन हो रहा है. वे पूरी तरह सुरक्षित बबल में हैं.’

इनपुट: भाषा