भारतीय क्रिकेट टीम के लिए विश्व कप 2019 का सफर काफी मिला जुला रहा। लीग मैचों में शानदार प्रदर्शन करने के बाद विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम को बारिश से प्रभावित सेमीफाइनल मैच में करारी हार का सामना करना पड़ा। लेकिन जो बात भारतीय टीम (Team India) के लिए पूरे टूर्नामेंट में समान रही, वो थी नंबर-4 के बल्लेबाजी की परेशानी। Also Read - MI vs CSK: चेन्‍नई को मुंबई के खिलाफ इन पांच कारणों से मिली बड़ी जीत

विश्व कप पहले एक साल तक टीम इंडिया ने कई अलग-अलग खिलाड़ियों को इस स्थान पर मौका दिया। जिनमें से एक खिलाड़ी अंबाती रायुडू (Ambati Rayudu) थे। रायुडू ने चार नंबर पर अच्छा प्रदर्शन भी किया था लेकिन इसके बावजूद विश्व कप स्क्वाड में उनकी जगह ऑलराउंडर विजय शंकर (Vijay Shankar) को चुना गया। जिसके बाद रायुडू ने अपनी निराशा ट्विटर पर जाहिर की थी। Also Read - जम्मू एवं कश्मीर के युवाओं को ट्रेनिंग देंगे सुरेश रैना; डीजीपी से खेल को बढ़ावा देने पर चर्चा की

हाल ही में संन्यास लेने वाले भारतीय ऑलराउंडर सुरेश रैना (Suresh Raina) ने बयान दिया है कि अगर रायुडू विश्व कप स्क्वाड का हिस्सा होते तो टीम इंडिया टूर्नामेंट जीत सकती थी। Also Read - IPL 2020: ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने कहा-MS Dhoni की CSK को खलेगी सुरेश रैना की कमी

मशहूर स्पोर्ट्स वेबसाइट क्रिकबज को दिए बयान में रैना ने कहा, “मैं रायुडू को इंडिया का नंबर-4 बनते देखना चाहता था क्योंकि वो बहुत मेहनत कर रहा था, लगभग डेढ़ साल तक खेला था। उसने बेहत अच्छा प्रदर्शन किया था और वो वहां नहीं था। मैंने साल 2018 के दौरे का आनंद नहीं किया क्योंकि रायुडू अपने फिटनेस टेस्ट में फेल हो गया था। मुझे अच्छा नहीं लगा कि मुझे चुना गया था और उसे नहीं।”

रैना ने आगे कहा, “वो नंबर-4 पर अच्छा था। अगर वो विश्व कप स्क्वाड का हिस्सा होता तो हमने वो टूर्नामेंट जीत लिया होगा। रायुडू सर्वश्रेष्ठ विकल्प था और वो सीएसके में भी इसी नंबर पर खेलता है। और वो चेन्नई के कैंप में भी वो अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था।”