इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) का कहना है कि अगर कोविड की वजह से स्थगित किया जा चुका इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) का 14वां सीजन फिर से शुरू होता है तो वो भारत जरूर आएंगे। Also Read - 'अगर अंतरराष्‍ट्रीय शेड्यूल के बीच में आया IPL तो...', जोस बटलर ने दिया ये जवाब

हाल ही में चोट से उबर कर प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी करते  हुए ससेक्स की तरफ से केंट के खिलाफ काउंटी चैंपियनशिप मैच में गुरुवार को वापसी की तथा 13 ओवरों में 29 रन देकर दो विकेट लिए। इंग्लैंड के भारत दौरे के दौरान इस 26 साल के क्रिकेटर की कोहनी में चोट लग गई थी, जिसके बाद वो आईपीएल के पूरे सीजन से बाहर हो गए थे। Also Read - IOA की मदद को आगे आया BCCI; ओलंपिक जाने वाले खिलाड़ियों की तैयारी के लिए देगा 10 करोड़ रूपये

उन्होंने ससेक्स क्रिकेट यू-ट्यूब चैनल से कहा, ‘‘अगर मैं भारत जाता (चोट से उबरने के बाद) तो भी शायद जल्दी घर वापस आ जाता। उम्मीद है, अगर इस साल आईपीएल के बचे हुए मैच होते है तो मैं फिर से जा सकूंगा। भारत नहीं जाने का फैसला मुश्किल था। यह कुछ ऐसा था जिसका अनुमान लगाना मुश्किल था। मैं वहां जाता तो भी पता नहीं था कि कितने मैच खेलता।’’ Also Read - स्पॉन्सरशिप से हटा चाइनीज ब्रांड, अब BCCI करेगा 10 करोड़ रुपये की मदद

आईपीएल बायो-बबल (जैव-सुरक्षित) में कोरोना वायरस मामलों के बढ़ने के बाद इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था।राजस्थान रॉयल्स के लिए 20 विकेट लेने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘राजस्थान रॉयल्स और इंग्लैंड की टीम ने मेरे फैसले का समर्थन किया। आप वैसे ही अच्छे रिश्ते बनाना चाहते है जैसा कि (राजस्थान) रॉयल्स के साथ मैंने पिछले तीन साल में बनाया है।’’

लगभग डेढ महीने में पहली बार प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेल रहे आर्चर ने जॉक क्राउली और केंट के कप्तान बेल ड्रूमंड को आउट किया और विरोधी टीम को 145 रन पर आउट करने में अहम भूमिका निभायी।

आर्चर ने कहा, “मेरी फिटनेस अच्छी है। मुझे लगता है कि मैंने अच्छी गेंदबाजी की। मैं पिछले सप्ताह ससेक्स की दूसरी श्रेणी की टीम के लिये खेला था और आत्मविश्वास हासिल करना अच्छा रहा तथा मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं।”

आर्चर ने इससे पहले अपना आखिरी मैच भारत और इंग्लैंड के बीच 20 मार्च को पांचवें टी20 अंतरराष्ट्रीय के रूप में खेला था। उनके दाएं हाथ में कांच का टुकड़ा फंसा हुआ था जिसके लिए उन्हें आपरेशन करवाना पड़ा।