भारतीय क्रिकेट फैंस को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन को बेसब्री से इंतजार था क्योंकि इस टूर्नामेंट के जरिए दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का टीम इंडिया में भविष्य तय होना था। हालांकि पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) का ऐसा नहीं मानना है। Also Read - कोरोना वॉरियर: यह महिला अपने बचत के पैसे खर्च कर लखनऊ की गलियों को कर रही सैनिटाइज

मशहूर कमेंटेटर चोपड़ा का कहना है कि आईपीएल में धोनी का प्रदर्शन उनके भारतीय टी20 स्क्वाड में शामिल होने या ना होने का फैसला नहीं करता। उन्होंने कहा, “ये बहुत बड़ी गलतफहमी है कि टीम इंडिया में धोनी की वापसी उनके आईपीएल प्रदर्शन पर निर्भर है।” Also Read - केजरीवाल सरकार की अस्पतालों को सख्त निर्देश- तीन महीने के लिए पर्याप्त पीपीई किट, ऑक्सीजन मास्क खरीदें

पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “अगर हम धोनी और बतौर खिलाड़ी उनके द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों को इस नजरिए से देखेंगे तो फिर मुझे लगता है कि आप गलत दरवाजा खटखटा रहे हैं क्योंकि वो गलत है।” Also Read - Coronavirus JharKhand Update: झारखंड में सामने आए 106 नए मामले, हजार के पार हुई संक्रमितों की संख्या

फिर कभी टीम इंडिया की जर्सी में नहीं दिखेंगे धोनी

चोपड़ा का मानना है कि धोनी भारतीय टीम के लिए फिर से खेलना चाहते हैं और अगर टीम मैनेजमेंट भी उन्हें वापस चाहता है तो ऐसा होगा।

उन्होंने कहा, “देखिए, अगर टीम उन्हें खिलाना चाहती है तो ऐसा होगा लेकिन अगर इस साल आईपीएल नहीं होता है तो फिर टी20 विश्व कप भी नहीं होगा। जाहिर है कि उसकी उम्र एक और साल बढ़ जाएगी और वो 18 महीनों के लिए क्रिकेट से दूर हो चुका होगा, तो फिर आप ये अनुमान लगा सकते हैं कि आप उसे फिर से भारत के लिए खेलते नहीं देख पाएंगे।”

खाली स्टेडियम में आयोजित हो सकता है IPL

हालांकि पूर्व भारतीय बल्लेबाज ये भी मानते हैं कि आईपीएल का आयोजन इंडोर पिचों पर या बिना दर्शकों के खाली स्टेडियम में कराया जा सकता है।

उन्होंने कहा, “ये एक अनुमान है क्योंकि हमें नहीं पता कि दुनिया आगे क्या करेगी। ये कोविड-19 महामारी अब भी बढ़ रही है। आईपीएल जैसे टूर्नामेंट के लिए, आपको खिलाड़ियों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी। और मेरे ख्याल से खाली स्टेडियम में टूर्नामेंट का आयोजन कराना टूर्नामेंट रद्द करने से बेहतर होगा।”