Vinod Kambli available to work as a batting consultant in IPL: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज विनोद कांबली (Vinod Kambli) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में बतौर बल्लेबाजी सलाकार काम करने की इच्छा जाहिर की है. 48 वर्षीय कांबली ने भारत की ओर से 17 टेस्ट मैचों में  4 शतक और 3 अर्धशतक के साथ कुल 1084 रन बनाए हैं जिसमें उनका बेस्ट स्कोर 227 रन है.Also Read - ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज मैथ्यू हेडन का सुझाव- T20 विश्व कप के लिए राहुल त्रिपाठी को मौका दे टीम इंडिया

साल 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने वाले कांबली ने 2000 में श्रीलंका के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल में कदम रखा था. कांबली ने साल 2009 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. इसके दो साल बाद यानी 2011 में कांबली ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. Also Read - रातोंरात करोड़पति बन गया कश्मीरी युवक, हाथ लगा 2 करोड़ रुपये का 'जैकपॉट'

1972 में मुंबई में जन्में कांबली का सपना आईपीएल (Indian Premier League) में बतौर बल्लेबाजी सलाहकार टीम के साथ जुड़ना है. बाएं हाथ के इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा है कि वह साल 2008 में आईपीएल में खेलने के बेहद करीब थे लेकिन चोट की वजह से उन्हें बाहर होना पड़ा. Also Read - पॉवर हिटिंग और अपने शॉट्स पर काफी मेहनत कर रही हैं वेलोसिटी की कप्तान दीप्ति शर्मा

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कांबली ने कहा, ‘ मैं किसी भी टीम में बतौर बल्लेबाजी सलाहकार काम करने को तैयार हूं.  पिंडली में ऑपरेशन में कारण मैं सही से दौड़ नहीं पा रहा था ऐसे में मुझे 2008 का आईपीएल छोड़ना पड़ा. यहां तक कि मैंने मुंबई की रणजी टीम से भी दूरी बना ली और संन्यास ले लिया. मेरा सपना है कि मैं किसी आईपीएल टीम का बैटिंग सलाहकार बनूं.’

दिग्गज सचिन तेंदुलकर(Sachin Tendulkar)  के दोस्त कांबली युवा क्रिकेटर्स को लेग स्पिनर्स के खिलाफ कैसे खेला जाता है, सिखाना चाहते हैं. वह गुगली के खिलाफ युवाओं को बेहतर तरीके से खेलने की कला सिखाने को आतुर हैं.

बकौल कांबली, ‘ मैंने कई साल तक क्रिकेट खेला भी है और देखा भी है. मेरे पास ऐसा बहुत सा ज्ञान है, जिन्हें मैं युवाओं के साथ साझा कर सकता हूं. मैं उनकी सहायता करना चाहता हूं. युवा पीढ़ी की सहायता और उनको बढ़ावा देने में मुझे खुशी होती है. अगर आप मुझे इंस्टाग्राम और ट्विटर पर फॉलो करते हैं, तो आपने देखा है कि मैंने आईपीएल 2020 को बहुत करीब से देखा है.’

बेशक कांबली ने कोई टी20 मैच नहीं खेला हो बावजूद इसके उन्होंने कहा है कि वह युवाओं को रणनीति बनाने और खेलने की अप्रोच के बारे में मार्गदर्शन कर सकते हैं.