दक्षिण अफ्रीकी स्पिनर इमरान ताहिर (Imran Tahir) ने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से अपनी पहली मुलाकात को याद किया। हालांकि ताहिर ने साल 2014 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में डेब्यू किया था लेकिन वो पहली बार धोनी से 2017 में मिले थे, जब उन्हें राइजिंग पुणे सुपजायंट (RPS) से खेलने का मौका मिला था।Also Read - दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में फेल हुए अश्विन तो फैंस ने की कुलदीप यादव की वापसी की मांग

ताहिर ने फेसवुक लाइव सेशन पर क्रिकेट अनप्लगड विद अनीस सजन शो के दौरान कहा कि पहली बार धोनी से मिलने से पहले वो काफी नर्वस थे लेकिन पुणे के कप्तान ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। Also Read - Highlights IND vs SA 3rd ODI: जीतते-जीतते हार गया भारत, साउथ अफ्रीका ने 3-0 से किया क्‍लीन स्‍वीप

दिग्गज स्पिनर ने कहा, “मैं उन्हें टीवी पर देखता आ रहा था लेकिन कभी उनसे मिला नहीं था। मैं उनसे पहली बार तब मिला जब मुझे पुणे टीम में चुना गया और मैं काफी घबराया हुआ था, मुझे नहीं समझ आ रहा है कि क्या करूं।” Also Read - विराट कोहली को कप्तानी से हटाने की वजह से भारतीय क्रिकेट 'Dead End' पर आ गया है: राशिद लतीफ

उस मुलाकात को याद करते हुए ताहिर ने कहा, “लेकिन मैं हैरान हुआ जब मैं अपने कमरे के दरवाजे के बाहर गया और वो मेरे पास आए और कहा ‘इमरान भाई, आपका स्वागत है। ये मेरा कमरा है, हम यहां बैठते हैं, आपका भी यहां स्वागत है’।”

उन्होंने कहा, “मैंने सोचा ‘अगर आप मुझे ये प्रस्ताव दे रहे हैं, तो मैं निश्चित तौर पर आपसे मिलने आउंगा क्योंकि मैं आपकी संगत में रहना चाहता हूं और क्रिकेट के बारे में सीखना चाहता हूं और ये जानना चाहता हूं कि आपने इतना सब कैसे हासिल किया’। उनके साथ मेरी पहली मुलाकात ऐसी थी।”

धोनी के साथ ताहिर का सफर यहीं खत्म नहीं हुआ। पुणे टीम के आईपीएल से हटने के बाद ताहिर साल 2018 में दो साल के बैन के बाद वापल लौटी चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) में शामिल हुए और पिछले दो सीजन से टीम के प्रमुख स्पिनर बने हुए हैं।

ताहिर ने बताया कि धोनी के साथ उनकी दोस्ती अब भी पहले जैसी ही है। उन्होंने कहा, “हम उनके कमरे में जाया करते थे, आज भी जाते हैं क्योंकि वो दुनिया भर से आम मंगवाते हैं। हमें सभी को आम खाना पसंद है।”

उन्होंने कहा, “उनके कमरे में कुछ भी आता है, वो उसे सभी के साथ बांटकर खाते हैं। उनके साथ ये सफर बेहद खास रहा है। मैं उम्मीद करता हूं कि मुझे उनके साथ खेलने और अपने सफर को खास बनाने के लिए अगले 2-3 साल और मिलेंगे।”