इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में भारत के खिलाफ बेखौफ होकर खेलने की सलाह देते हुए कहा कि हार के डर के साथ खेलना हमें नकारात्मकता और रक्षात्मक रणनीति की ओर ले जाता है. क्रिकेटर से राजनीतिज्ञ बने इमरान की कप्तानी में पाकिस्तान ने 1992 में विश्व कप का खिताब जीता था. इस पूर्व कप्तान ने ट्विटर के जरिए पाकिस्तान की टीम को सफलता का मंत्र दिया.

इस पूर्व क्रिकेट दिग्गज ने कहा, हारने की सभी आशंकाओं को दिमाग से निकाल देना चाहिए, क्योंकि दिमाग में एक समय में एक ही विचार आ सकता है. हारने का डर एक नकारात्मक और रक्षात्मक रणनीति की ओर ले जाता है और इससे विरोधी टीम की अहम
गलतियों पर ध्यान नहीं जाता. ये सरफराज और पाकिस्तान टीम के लिए मेरे कुछ सुझाव हैं.

पाकिस्तान ने हालांकि, विश्व कप मुकाबले में भारत को कभी नहीं हराया है. दोनों टीमों के बीच खेले गए सभी छह मैच भारत ने
जीते हैं. इमरान ने कहा, हम भाग्यशाली है कि सरफराज के रूप में हमारे पास एक साहसी कप्तान हैं और आज उसे अपना सर्वश्रेष्ठ
प्रदर्शन करना होगा.

इमरान ने कहा, जीत की रणनीति के तहत सरफराज को बल्लेबाजों और गेंदबाजों के साथ जाना चाहिए, क्योंकि कामचलाऊ बल्लेबाज या गेंदबाज शायद ही कभी दबाव में प्रदर्शन करते हैं, खासकर आज जैसे दबाव वाले मैच में. जब पिच में नमी ना हो सरफराज को टास जीतकर बल्लेबाजी करनी चाहिए. पाकिस्तान के कप्तान ने हालांकि, इमरान के सुझाव के उलट टास जीत कर क्षेत्ररक्षण का फैसला किया.