दक्षिण अफ्रीका के स्टार लेग स्पिनर इमरान ताहिर के साथ पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारियों द्वारा अपमानित करने का मामला सामने आया है. ताहिर हाल ही में बर्मिंघम स्थिति पाकिस्तानी उच्चायोग में लाहौर में 12,13 और 15 सितंबर को होने वाले तीन टी20 मैचों में वर्ल्ड इलेवन की तरफ से खेलने के लिए वीजा पाने के लिए गए थे. लेकिन हैरानी की बात ये कि ताहिर को न सिर्फ पांच घंटे लाइन में खड़ा रहना पड़ा बल्कि उसके बाद उन्हें ऑफिस बंद होने की बात कहते हुए अपमानित किया गया और दूतावास से बाहर निकाल दिया गया. हालांकि बाद में पाकिस्तान हाई कमिश्नर इब्ने अब्बास के हस्तक्षेप के बाद ताहिर को वीजा मिल गया.

ताहिर ने ट्विटर पर इस पूरी घटना की जानकारी दी है और लिखा है, ‘मुझे मेरे परिवार के साथ पाकिस्तान उच्चायोग में अपमानित किया गया और निकाल दिया गया जब आज मैं वहां पाकिस्तान में वर्ल्ड इलेवन के लिए खेलने के लिए वीजा के लिए गया था.’

ताहिर ने लिखा है, ‘ये विडंबना है कि पाकिस्तानी मूल का और दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर होने और वर्ल्ड इलेवने की तरफ से खेलने का इच्छुक होने पर भी मेरे साथ इतना बुरा बर्ताव किया गया. अब्बास का शुक्रिया जिन्होंने मुझे बचा लिया.’


ताहिर वर्ल्ड इलेवन में शामिल 14 सदस्यीय टीम का हिस्सा हैं, जिनमें सात टेस्ट खेलने वाले देशों के खिलाड़ी शामिल हैं. वर्ल्ड इलेवन पाकिस्तान के लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में 12, 13 और 15 सितंबर को इंडिपेंडेंस कप के तहत तीन टी20 मैच खेलेगा.