नई दिल्लीः भारत और वेस्टइंडीज के बीच हुए दो टेस्ट मैचों में भारत ने 2-0 से सीरीज जीतकर क्लीन स्वीप किया. वेस्टइंडीज के लंबे दौरे पर भारत ने सभी फार्मेट पर शानदार खेल दिखाया और टी-20, वनडे और टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज की. जमैका में हुए दूसरे टेस्ट में विपक्षी टीम को 257 रन से हराने के बाद विराट कोहली ने युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी की तारीफ करते हुए कहा कि इस जीत के साथ हमें यहां पर एक प्रतिशाली खिलाड़ी मिल गया.

सच कहूं तो टीम दबाव में थी, लेकिन सभी ने अच्छा खेलकर जीत को आसान बनायाः कोहली

मैच के बाद पत्रकारों से बात करते हुए विराट ने कहा कि यह जरूर था कि टीम कुछ समय के लिए दबाव में आई थी लेकिन सभी खिलाड़ियों ने अच्छा परफार्म किया और भारत को आसान जीत दिलाई. दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने वेस्टइंडीज के सामने 468 रन का विशाल लक्ष्य रखा था, लेकिन पूरी कैरेबियाई टीम केवल 210 रन ही बना सकी. मैन ऑफ द मैच रहे हुनमा विहारी ने पहली पारी में 111 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में उन्होंने नाबाद 57 रन बनाए. हनुमा ने पहले टेस्ट की दूसरी पारी में भी 93 रन की शानदारी पारी खेली थी. दबाव भरी स्थित में बेहतरीन बल्लेबाजी के लिए विहारी को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

इंडिया ने वेस्टइंडीज को 257 रनों से हराकर 2-0 से क्लीनस्वीप किया, विराट बने भारत के सफलतम टेस्‍ट कप्‍तान

विराट ने कहा कि पहले ही मैच के बाद यह साफ तौर पर दिखने लगा था कि हमें इस सीरीज में हमें भविष्य के लिए एक उज्जवल खिलाड़ी मिलने वाला है. उन्होंने कहा कि विहारी ने जिस तरह से पहले मैच में 32 और 93 रन की पारी खेली उससे यह साफ हो गया था कि हमें एक नया प्रतिभावान खिलाड़ी मिल गया है. एंटिगा में हुए पहले टेस्ट में भी विहारी ने विराट ने मैच के बाद कहा, “मुझे लगता है कि इस सीरीज में हनुमा विहारी टीम इंडिया की खोज हैं. कप्तान ने कहा कि उसकी टेक्निक्स उसे सबसे अलग करती है और वह दबाव में अपने खेल को और भी अच्छी तरह से खेलता है.

विराट ने अजिंक्या रहाणे और तेज गेंदबाज बुमराह की भी तारीफ करते हुए कहा कि रहाणे के लिए भी यह सीरीज कई मायने में अहम रही और उसने अपनी लय वापस पाली. बुमराह के लिए उन्होंने कहा कि वह अब दुनिया का सबसे खतरनाक गेंदबाज बन गया है और उसकी गेंदबाजी के लिए किसी के पास कोई रणनीति नहीं है.