भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन अपने नाम एक खास उपलब्धि हासिल कर ली.

वाइजैग टेस्ट : एल्गर के शतक और डी कॉक के अर्धशतक से दक्षिण अफ्रीका टी तक 292/5

जडेजा ने मेहमान टीम के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर को चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच कराकर टेस्ट क्रिकेट में अपने 200 विकेट पूरे कर लिए. इसके साथ ही जडेजा वर्ल्ड में सबसे तेज 200 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले बाएं हाथ के गेंदबाज भी बन गए.

जडेजा ने इस दौरान श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर रंगना हेराथ, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन, ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क और भारत के बिशन सिंह बेदी व पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम को पीछे छोड़ दिया.

अफगानिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड ने इस दिग्‍गज को दी टीम की जिम्‍मेदारी

हेराथ ने 200 टेस्ट विकेट लेने के लिए 47 जबकि जॉनसन ने इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए 49 टेस्ट मैचों का सहरा लिया था. स्टार्क ने 50 और बेदी व अकरम ने 51-51 टेस्ट मैच खेलकर इस कारनामे को अंजाम दिया था.

अश्विन के बाद दूसरे नंबर पर पहुंचे

जडेजा सबसे कम टेस्ट खेलकर 200 विकेट हासिल करने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर हैं. इस लिस्ट में आर अश्विन पहले जबकि जडेजा दूसरे नंबर पर हैं. अश्विन ने इस आंकड़े तक पहुंचने के लिए 36 टेस्ट खेले थे जबकि अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह को 200 तक के आंकड़े तक पहुंचने के लिए 46 टेस्ट मैच खेलने पड़े थे.

दिग्गज अनिल कुंबले ने 47 जबकि बी चंद्रशेखर ने 48 मैचों में 200 टेस्ट विकेट हासिल किए थे.

100वां शिकार एलिस्टर कुक को बनाया

बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रविंद्र जडेजा ने टेस्ट मैचों में अपना 50वां शिकार दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज हाशिम अमला को जबकि 100वां शिकार इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक को बनाया. जडेजा ने 150वां शिकार श्रीलंका के डी सिल्वा को बनाया वहीं 200वें विकेट के रूप में एल्गर को आउट किया.