आईसीसी ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के दौरान इस्तेमाल की गई चारों पिचों को आईसीसी ने ‘हाई रैटिंग’ दी है।सीरीज के चार मैच एडिलेड, मेलबर्न, सिडनी और ब्रिस्बेन की पिचों पर खेले गए थे, जिन्हें आईसीसी ने ‘एवरेज’ से लेकर ‘वेरी गुड’ कटेगरी में रखा है।Also Read - टीम इंडिया में पहली बार चुने गए जम्मू-कश्मीर के तेज गेंदबाज Umran Malik

गौरतलब है कि एडिलेड, जहां भारत दूसरी पारी में 36 रनों पर आउट हो गया था, की पिच को आईसीसी ने पिच तथा आउटफील्ड के लिए ‘वेरी गुड’ कटेगरी में रखा है। ये टेस्ट तीन दिनों में ही समाप्त हो गया था। Also Read - KL Rahul बने कप्तान, विराट कोहली SA के खिलाफ T20 सीरीज से बाहर

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि उसका लक्ष्य हमेशा से शानदार प्रतिस्पर्धा के लिए पिचें तैयार करना रहा है। सीए के चीफ अर्ल एडिंग्स ने क्रिकबज से कहा, “हमारा लक्ष्य शानदार प्रतिस्पर्धा और अच्छे मुकाबले रहे हैं और इसी को ध्यान में रखते हुए हम स्तरीय पिचें तैयार करते हैं।” Also Read - टीम RCB ने एक साथ देखा DC-MI मुकाबला, विराट बोले- धन्‍यवाद मुंबई, हम इसे याद रखेंगे

Happy Birthday Cheteshwar Pujara: 33 साल की हुई भारत की ‘नई दीवार’

चार मैचों में दोनों टीमो की ओर से कुल 3,900 रन बनाए गए और इस दौरान कुल 130 विकेट गिरे। इस हाई वोल्टेज सीरीज का फैसला अंतिम टेस्ट से हुआ, जहां भारत ने जीत हासिल करते हुए 2-1 से सीरीज अपने नाम की। ये मैच आखिरी दिन के आखिरी सेशन के आखिरी ओवरों में खत्म हुआ।

ब्रिस्बेन की पिच को जहां ‘गुड- वेरी गुड’ रेटिंग मिली वहीं सिडनी टेस्ट के लिए उपयोग में लाई गई पिच को ‘एवव- एवरेज एंड वेरी गुड’ रेटिंग मिली। दूसरा टेस्ट मेलबर्न में खेला गया था और इसे भारत ने 8 विकेट से जीतकर सीरीज में बराबरी की थी। इस मैच की पिच को ‘गुड और वेरी गुड’ रेटिंग मिली।