भारत और ऑस्‍ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच गाबा में खेले गए चौथे टेस्‍ट मैच के दौरान आखिरी सेशन का रोमांच हर खेल प्रेमी के जहन में जरूर होगा. पांचवें दिन के खेल की शुरुआत हुई तो मैच ऑस्‍ट्रेलिया के पाले में जाता नजर आ रहा था फैन्‍स ये उम्‍मीद कर रहे थे कि भारत जैसे-तैसे मुकाबले को ड्रॉ करा पाए. रिषभ पंत (Rishabh Pant) की पारी ने खेल का रुख पलट दिया.Also Read - Rohit Sharma को बनाया जाए टेस्ट कप्तान लेकिन उनकी फिटनेस गंभीर मसला: Ravi Shastri

रिषभ पंत ने विनिंग मूमेंट के बारे में बात करते हुए बताया कि कैसे उन्‍होंने नवदीप सैनी (Navdeep Saini) से जीत का रन लेते वक्‍त मजे लिए थे. “जम मैंने विनिंग शॉट लगाया तो गेंद बल्‍ले के निचले हिस्‍से पर लगी. आउट‍फील्‍ड काफी धीमा था. जब बॉल जा रही थी तो मैंने नवदीप सैनी (नॉन-स्‍ट्राइकर एंड) को कहा- दो नहीं तीन. मेरे दिमाग से उनकी ग्राइन इंजरी की बात निकल गई और मैं तेजी से भागने लगा.” Also Read - ...हमने वो मैच भी गिफ्ट कर दिए जो आसानी से जीत सकते थे, मदन लाल ने टीम इंडिया की लगाई क्‍लास

पंत ने आगे बताया, “पहला रन लेते वक्‍त मैंने अपनी आंखे बंद कर ली थी और तेजी से भागा. दूसरा रन लेते वक्‍त मैंने देखा कि मिडऑफ का फील्‍डर बॉल पकड़ने के लिए भाग भी नहीं रहा है. मैं सोच रहा था कि आखिर क्‍यों फील्‍डर भाग नहीं रहा है.” Also Read - IND vs SA- साउथ अफ्रीका से बुरी हार के बाद बोले कोच Rahul Dravid- खिलाड़ियों को सुरक्षा देंगे लेकिन हमें भी चाहिए अच्छा प्रदर्शन

रिषभ पंत ने कहा, “मैंने नोटिस किया कि गेंद बाउंड्री की तरफ जा रही है. मैं खुशी से उत्‍साहित हो गया था. मैं चिल्‍लाने लगा सैनी 3, हमें तीन रन भागने होंगे. वो बेचारा एक टांग पर भागता रहा.”