भारत और ऑस्ट्रेलिया ए के बीच खेला गया दूसरा अभ्यास मैच ड्रॉ पर खत्म हुए लेकिन मेहमान टीम के लिए कई चीजें सकारात्मक रहीं। जिससे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 17 दिसंबर को होने वाले डे-नाइट टेस्ट से पहले टीम इंडिया को काफी राहत मिली है। Also Read - वीरेंद्र सहवाग ने अपने ही अंदाज में की शार्दुल-सुंदर की तारीफ, वीवीएस ने कही ये बात

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेले गए अभ्यास मैच में भारत के लिए सबसे सकारात्मक पहलू रहा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant), ऑलराउंडर हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) का बल्लेबाजी प्रदर्शन। पंत और विहारी के अलावा सलामी बल्लेबाजी शुबमन गिल (Shubman Gill) और मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने भी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के खिलाफ बेहतरीन बल्लेबाजी की। Also Read - ऑस्‍ट्रेलिया के लिए बेहद अशुभ है 33 रन की बढ़त लेने का नंबर, जानें क्‍या कहता है इतिहास

वहीं सीमित ओवर फॉर्मेट सीरीज के दौरान संघर्ष कर रहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) को भी इस अभ्यास मैच से लय हासिल करने में मदद मिली। Also Read - विराट कोहली ने Shardul Thakur के लिए ट्विटर पर लिखा- तुला परत मानला रे, जानें क्‍या है इसका मतल‍ब

मैच रिपोर्ट:

पिंक बॉल से खेले गए मैच के पहले दिन भारतीय टीम ने शुबमन गिल (43) और पृथ्वी शॉ (40) की साझेदारी से मिली शुरुआत के बाद जसप्रीत बुमराह की नाबाद अर्धशतकीय पारी की मदद से 194 रन का स्कोर बनाया।

जिसके बाद भारतीय तेज गेंदबाजों मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और नवदीप सैनी के शानदार प्रदर्शन के दम पर ऑस्ट्रेलिया ए की पहली पारी 108 रन पर समाप्त हुई।

86 रनों की बढ़त के साथ बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने दूसरी पारी 386/4 के स्कोर पर घोषित की। 472 रनों की शानदार बढ़त हासिल करने के पीछे शुबमन गिल (65) और मयंक अग्रवाल (61) की शतकीय साझेदारी के साथ हनुमा विहारी (104) और रिषभ पंत (103) की शतकीय पारियों की अहम भूमिका रही।

मैच के आखिरी दिन लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेया के बेन मैकडरमॉट ने 167 गेंदो पर 107 रनों की नाबाद पारी खेली। जिसकी बदौलत ऑस्ट्रेलिया ए ने तीसरे दिन स्टंप तक चार विकेट पर 307 रन बना लिए और मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ।