कोलकाता टेस्‍ट (Kolkata Test) में हार के साथ बांग्‍लादेश की टीम (IND vs BAN) ने रविवार को टेस्‍ट सीरीज में 0-2 से हार के साथ भारत दौरे के अंत किया. मेहमान टीम को दोनों ही मुकाबलों में एकतरफा हार का सामना करना पड़ा. हार के बाद कप्‍तान मोमिनुल हक (Mominul Haque) ने स्‍वीकार किया कि टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करना गलता फैसला था। Also Read - भारत के खिलाफ वाका में टेस्ट खेलने से आस्ट्रेलिया को फायदा होगा: Ellyse Perry

Also Read - IND vs ENG: इन बड़े रिकॉर्ड्स के लिए भी खूब याद किया जाएगा भारत-इंग्लैंड का Pink Ball Test

पढ़ें:- मैच के बाद विराट बोले- मुझे लग रहा था मैन ऑफ मैन मुझे ही मिलेगा लेकिन…. Also Read - India Vs England Pink Test Day One Records: इंग्लैंड के साथ तीसरे टेस्ट के पहले दिन Motera पर बने कई रिकॉर्ड, जानें किसने क्या किया कारनामा...

मेहमान टीम के कप्‍तान ने हालांकि यह भी स्‍वीकार किया कि हमारे टॉस जीतने या हारने से कोई खास असर नहीं पड़ता. मोमिनुल हक ने कहा कि हमने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की. अगर हम पहले गेंदबाजी करते तो भी यही स्थिति होती.

“टीम ने खेहद खराब प्रदर्शन किया जिसके चलते उन्‍हें दोनों ही मैचों में हार झेलनी पड़ी. हमारी टीम को दो मैचों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है. दोनों टीमों के बीच का अंतर चिंता की बात है. हमें इन दो मैचों में मिली हार से सीखना होगा और आत्ममंथन करना होगा कि आखिरकार ऐसा क्यों हुआ. पिंक बॉल से खेलना चुनौती थी और हमने इस चुनौती को नई गेंद से स्वीकार किया.”

ढ़ें:- अंबाती रायडू के विवादित ट्वीट पर अजहरुद्दीन ने दिया जवाब, कहा- हताशा हैं वो अब…

“अगर हम हारते हैं तो कोई बात नहीं लेकिन हमारे लिए कुछ सकारात्मक बातें रहीं. इबादत ने अच्छी गेंदबाजी की. रियाद भाई और मुशफिकुर भाई ने अच्छी बल्लेबाजी की.”

कोलकाता में भारत ने बांग्‍लादेश की टीम टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करते हुए महज 106 रनों पर ऑलआउट हो गई थी. जवाब में भारतीय ने कप्‍तान विराट कोहली के शतक के दम पर बोर्ड पर 347 रन ठोक दिए. मेहमान टीम दूसरी पारी में भी कुछ खास नहीं कर पाई और 195 रन पर ऑलआउट हो गई.