बीते साल ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर (India vs Australia) मेजबान टीम द्वारा बार-बार डे-नाइट टेस्‍ट मैच  (Day Night Test) खेलने के लिए दरख्‍वास्‍त करने के बावजूद भी टीम इंडिया (Team India) ने इस प्रस्‍ताव को ठुकरा दिया था। भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने इसपर प्रतिक्रिया दी।

भारतीय टीम को 22 नवंबर से बांग्‍लादेश के खिलाफ (India vs Bangladesh) अपना पहला डे-नाइट मैच खेलना है। दोनों ही टीमें टेस्‍ट क्रिकेट में डे-नाइट के तड़के का स्‍वागत कर रही हैं। मैच से पहले मीडिया से बातचीत के दौरान विराट कोहली ने कहा कि वो ऑस्‍ट्रेलिया में भी डे-नाइट टेस्‍ट खेलने के लिए तैयार हैं बशर्ते हमें इससे पहले वहां प्रैक्टिस मैच खेलने को मिले।

पढ़ें:- IND vs WI: खतरे में पड़ा मुंबई टी20 मुकाबला, ये है वजह

अगले साल ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्‍ट खेलने के संबंध में विराट कोहली से सवाल पूछा गया था। उन्‍होंने कहा,‘‘जब भी यह होगा , इससे पहले एक अभ्यास मैच रखना होगा।’’

विराट ने कहा, “बीते साल ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान मेजबान टीम की तरफ से एडिलेड में डे-नाइट टेस्‍ट खेलने का प्रस्‍ताव दिया गया था। हमने ऐसा करने से इसलिए इंकार कर दिया था क्‍योंकि हम इसके लिए अभ्‍यास नहीं मिला था।”
” हम पिंक गेंद से क्रिकेट खेलना चाहते थे। अब ऐसा हो रहा है । एक बड़े दौरे पर अचानक यह नहीं हो सकता कि हम गुलाबी गेंद से खेले बिना ही टेस्ट खेलने को तैयार हो जायें। हमने पिंक गेंद से कोई प्रथम श्रेणी मैच भी नहीं खेला था।’’

यह पूछने पर कि अब उनका इरादा कैसे बदला, उन्होंने कहा कि वह इसलिये तैयार हुए क्योंकि लंबे समय से बातचीत चल रही थी और उन्हें अचानक नहीं बताया गया।

पढ़ें:- हरभजन सिंह ने कहाडे-नाइट फॉर्मेट से टेस्ट क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ने की कोई गारंटी नहीं

विराट कोहली ने कहा ,‘‘आप दो दिन पहले अचानक नहीं कह सकते कि आपकों पिंक गेंद से खेलना है। आपको इसके लिये तैयारी चाहिये होती है। एक बार आदत बन जाने पर कोई दिक्कत नहीं है।’’

‘‘हम अपने देश में गुलाबी गेंद से टेस्ट खेल रहे हें। देखना होगा कि यह कैसा रहता है। इसके बाद हम बाहर किसी अहम टेस्ट सीरीज में इससे खेल सकते हैं।’’

भारतीय कप्‍तान ने मैच के दौरान ओस की भूमिका पर कहा ,‘‘ आखिरी सेशन के दौरान ओस की भूमिका होगी। हम मैच के दौरान ही उस समय देखेंगे कि कैसे इससे निपटना है। भारत में और विदेश में दिन रात का टेस्ट खेलने में यही फर्क होता है। इसमें हमें फैसले अधिक सटीक लेने होंगे और कहीं कोई कोताही की गुंजाइश नहीं होगी।’’

याद आया भारत-पाकिस्‍तान 2016 टी20 मुकाबला

विराट कोहली ने भारत के पहले डे-नाइट टेस्‍ट को लेकर हाइप की तुलना टी20 विश्व कप 2016 में भारत पाकिस्तान मैच से की। ‘‘आखिरी बार इतना उत्साह मुझे तभी देखने को मिला था। सभी बड़े सितारे आये थे और उन्हें सम्मानित किया गया था। स्टेडियम खचाखच भरा था। अभी भी ऐसा ही माहौल है।”