इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) स्पिनरों के खिलाफ स्वीप शॉट खेलने में माहिर है और अपनी इस महारत को वह भारत के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट सीरीज में आजमाएंगे. वह भारतीय स्पिनरों के खिलाफ अपने इस भरोसमेंद शॉट को खेलने के लिए तैयार हैं. यहां तक रूट भारत के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) के खिलाफ भी अपने इस शॉट को खेलते दिखाई दे सकते हैं. Also Read - India vs England: इंग्लैंड विकेटकीपर ने कहा- हमें पता है चौथे टेस्ट में कैसी पिच मिलने वाली है

रूट हाल ही में श्रीलंका दौरे से कामयाब होकर लौटे हैं. उन्होंने श्रीलंका की स्पिन और धीमी पिचों पर श्रीलंका के स्पिनरों का शानदार ढंग से सामना किया और यहां उन्होंने 228 और 186 रन की पारी खेल कर अपनी बादशाहत कायम की. भारत के खिलाफ पहले मैच से पहले रूट ने अपने इस शॉट खेलने की पुरानी कहानी को याद किया। Also Read - IPL 2021 से पहले Devdutt Padikkal ने मचाई धूम, विजय हजारे ट्रॉफी में ठोके लगातार 3 शतक

उन्होंने बताया कि आखिर कैसे उन्होंने इस शॉट को खेलना शुरू किया था. रूट के साथ मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शामिल भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ (Steve Smith) स्वीप शॉट को ज्यादा खेलना पसंद नहीं करते हैं. Also Read - टेस्ट से लेकर टी20 तक, हर फॉर्मेट के शीर्ष पर बने हुए हैं विराट कोहली: ग्लेन मैक्सवेल

रूट ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘जब मैं कम उम्र का था तब दूसरों की तुलना में मेरा कद कम था. मेरा शारीरिक विकास देर से हुआ. स्पिनरों का सामना करने के लिए मुझे कोई तरीका इजात करना था और स्वीप ऐसा शॉट था, जिसे मैं ताकत के साथ खेल पा रहा था.’

उन्होंने कहा, ‘मेरे जूनियर करियर के दौरान यह रन बनाने का अच्छा विकल्प था. उसी समय से मैंने अपने खेल में सुधार किया है और कुछ शानदार खिलाड़ियों एवं कोचों के साथ इस पर काम किया है.’ टेस्ट क्रिकेट में 8000 रनों के आंकड़े को पार करने वाले रूट ने कहा कि श्रीलंका के हालिया दौरे पर स्वीप ऐसा विकल्प था, जिस में कम जोखिम था.

अश्विन का सामना करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘मैं उनके खिलाफ हावी होकर या रक्षात्मक तरीके से खेलने से बचूंगा. गेंद का सामना वैसे ही करूंगा जिसका वह हकदार हो. अगर मैं कुछ समय के लिए पिच पर रहता हूं, तो मैं बड़ा स्कोर खड़ा कर सकता हूं. भारत में उनका रिकॉर्ड शानदार है और शायद इस सीरीज के लिए वह आत्मविश्वास से भरे हैं.’

रूट ने आगे कहा, ‘मेरे लिए गेंद की लाइन-लेंथ के अलावा पिच को समझना के बारे में है. इस शॉट को खेलने में गेंद की उछाल और टर्न को समझना जरूरी है. इसे खेलने से पहले इन सब जोखिम के बारे में सोचना होता है.’

इनपुट : PTI