न्‍यूजीलैंड के हैमिल्‍टन में जारी वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में श्रेयस अय्यर ने नंबर-4 पर बल्‍लेबाजी करते हुए 103 रन बनाए. 107 गेंद पर 103 रन की अपनी पारी श्रेयस अय्यर ने 11 चौके और एक छक्‍का लगाया.

अय्यर की इस पारी ने न सिर्फ टीम इंडिया को मैच में मजबूत स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया बल्कि भारत की नंबर-4 की उस समस्‍या का हल भी ढूंढ़ दिया है जिसे लेकर बीते चार सालों से मशक्‍कत चली आ रही थी.

भारतीय टीम मैनेजमेंट विश्‍व कप 2019 से पहले वनडे फॉर्मेट में नंबर-4 के बल्‍लेबाज की तलाश बेहद गंभीरता से कर रहा था. साल 2016, 2017, 2018 बीत जाने के बावजूद हम नंबर-4 के बल्‍लेबाज की तलाश पूरी नहीं कर पाए थे.

अंतत: विश्‍व कप के सेमीफाइनल में भारत को न्‍यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा. टॉप ऑर्डर के फेल होने के बाद मध्‍यक्रम रन बनाने में विफल रहा और भारत विश्‍व कप से बाहर हो गया.

…नंबर-4 पर आजमाए गए बल्‍लेबाजों की लंबे है फेहरिस्‍त

भारतीय टीम मैनेजमेंट फरवरी 2016 के बाद से नंबर-4 के लिए अंबाती रायडू, युवराज सिंह, मनीष पांडे, महेंद्र सिंह धोनी, अजिंक्‍य रहाणे, हार्दिक पांड्या, दिनेश कार्तिक, रिषभ पंत, केएल राहुल, विराट कोहली, विजय शंकर, केदार जाधव को आजमा चुका है. तमाम कवायदों के बावजूद इस स्‍थान के लिए कोई खिलाड़ी खुद को साबित नहीं कर सका. इस दौरान भारत 89 वनडे मुकाबले खेल चुका है.

Ambati Rayudu @ Twitter

Ambati Rayudu @ Twitter

...अंबाती रायडू ने जगाई थी उम्‍मीद

विश्‍व कप 2019 से करीब छह महीने पहले अंबाती रायडू का नाम नंबर-4 के लिए घोषित कर दिया गया था. वजह थी उनके द्वारा 50 ओवर के फॉर्मेट में नंबर-4 पर खेलते हुए लगाया गया शतक. रायडू अपनी फॉर्म को लंबे समय तक बरकरार नहीं रख सके. जिसके चलते अंतिम समय में उन्‍हें विश्‍व कप की टीम में जगह नहीं दी गई.

Yuvraj Singh IANS

Yuvraj Singh @ IANS

…युवराज सिंह भी लगा चुके हैं शतक

इससे पहले युवराज सिंह भी साल 2016 के बाद नंबर-4 पर खेलते हुए शतक जड़ चुके हैं. उन्‍होंने जनवरी 2017 में इंग्‍लैंड के खिलाफ कटक वनडे में 150 रन की पारी खेली थी, लेकिन इसके बाद लगातार खराब प्रदर्शन के कारण इसी साल युवराज को टीम से बाहर कर दिया गया था.

…विश्‍व कप के बाद अय्यर को मिला नंबर-4 पर मौका 

विश्‍व कप 2019 के बाद टीम मैनेजमेंट ने श्रेयस अय्यर पर इस स्‍थान पर खेलने के लिए भरोसा जताया. अय्यर ने भी किसी को निराश नहीं किया. श्रेयस अय्यर नंबर-4 पर खेलते हुए लगातार रन बना रहे हैं. हालांकि अच्‍छे प्रदर्शन के बावजूद भी वो शतक नहीं जड़ पाए थे. हैमिल्‍टन में उन्‍होंने यह कसर भी पूरी कर दी.