क्राइस्‍टचर्च टेस्‍ट (Christchurch Test) में भारत को न्‍यूजीलैंड से सात विकेट से करारी शिकस्‍त झेलनी पड़ी. मैच के बाद कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने हार को स्‍वीकार करते हुए साफ किया कि बल्‍लेबाजों ने बचाव करने के लिए गेंदबाजों को पर्याप्‍त रन नहीं दिए, जिसके चलते हमें हार का सामना करना पड़ा. Also Read - कोहली एंड कंपनी की फिटनेस की दीवानी है पड़ोसी टीम, दिग्गज खिलाड़ी ने किया स्वीकार

भारतीय कप्‍तान ने कहा, ‘इस हार पर कोई बहाना नहीं चलेगा. हमें विदेशों में जीतना है तो प्रदर्शन करना होगा. हम बस आगे बढ़ते हुए सीख रहे हैं. टेस्ट मैचों में हम वैसा क्रिकेट नहीं खेल पाए जैसा खेलना चाहते थे. बल्लेबाजों ने इतने रन नहीं बनाए कि गेंदबाज प्रयास और आक्रमण करते. गेंदबाजी अच्छी थी, मुझे लगता है कि वेलिंगटन में भी हमने अच्छी गेंदबाजी की.’’ Also Read - अगस्त-सितंबर में टीम इंडिया का कैंप लगाने के बारे में सोच रही है बीसीसीआई

पढ़ें:- कोहली एंड कंपनी को हरा न्यूजीलैंड ने लगाया जीत का ‘सिक्सर’ Also Read - फ्लॉप XI में मनोज तिवारी का नाम देख भड़की पत्नी सुष्मिता

…लागू नहीं कर पाए अपनी योजना

विराट कोहली ने कहा, ‘‘वेलिंगटन टेस्‍ट में टीम जीत का जज्बा नहीं दिखा पाई थी. यहां क्राइस्‍टचर्च में हम मैच को सही तरीके से खत्म नहीं कर पाए. हम लंबे समय तक सही लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी नहीं कर पाए. उन्होंने काफी दबाव बनाया. यह इस बात का संयोजन रहा कि हम अपनी योजना को अमलीजामा नहीं पहना पाए और उन्होंने अपनी योजना को लागू किया.’’

पढ़ें:- Test Championship Points Table: भारत को हरा तीसरे स्‍थान पर पहुंचा NZ, बिगड़ा कई टीमों का समीकरण

…टॉस हारने का असर

भारतीय कप्‍तान ने कहा, ‘‘आप सोच सकते हैं कि टॉस एक मुद्दा हो सकता है लेकिन हम शिकायत नहीं करेंगे. इससे प्रत्येक टेस्ट में गेंदबाजों को अतिरिक्त फायदा मिला लेकिन एक अंतरराष्ट्रीय टीम के रूप में उम्मीद की जाती है कि आप इसे समझेंगे.’’