पहले एकदिवसीय मैच में भारत के खिलाफ खराब प्रदर्शन करने वाली न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम फिरोजशाह कोटला मैदान पर गुरुवार को होने वाले दूसरे एकदिवसीय मैच में पिछली हार को भूलकर सकारात्मक सोच के साथ उतरेगी। टीम के तेज गेंदबाज ट्रेंट बाउल्ट ने बुधवार को कहा कि हम सिर्फ पहला मैच हारे हैं और अभी चार मैच बाकी हैं। हमारे खिलाड़ी हर तरह की चुनौती के लिए तैयार हैं। Also Read - टॉम मूडी की नजर में ये है टी20 का सबसे खतरनाक सलामी बल्‍लेबाज, बताई फेवरेट IPL टीम

यह भी पढ़े- अज़ब-गज़बः जॉन्टी रोड्स टीम में नहीं थे शामिल फिर भी बने ‘मैन ऑफ द मैच’ Also Read - मेरे मनाने के बावजूद धोनी नहीं थे विराट को टीम में जगह देने को तैयार: दिलीप वेंगसरकर

बाउल्ट ने मैच की पूर्व संध्या पर यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “टेस्ट श्रृंखला में हमारा प्रदर्शन खराब रहा था और धर्मशाला में खेले गए पहले एकदिवसीय मैच में भी हमें हार मिली, लेकिन हमारा मनोबल गिरा नहीं है और हम सकारात्मक सोच के साथ मैदान पर उतरेंगे। हमारे खिलाड़ी हर चुनौती के लिए तैयार हैं। यह पांच मैचों की श्रृंखला है जिसमें चार मैच अभी बाकी हैं।” भारत ने पहले मैच में किवी टीम को छह विकेट से हराया था। इस मैच में किवी टीम के बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने बेबस नजर आए थे। Also Read - सुरेश रैना बोले- CSK के अभ्यास शिविर में किसी युवा की तरह बल्लेबाजी कर रहे थे महेंद्र सिंह धोनी

बाउल्ट ने गुरुवार को होने वाले मैच में बल्लेबाजी को लेकर कहा कि टीम की कोशिश बोर्ड पर इस बार ज्यादा से ज्यादा रन टांगने की होगी।

बाउल्ट ने कहा, “हमारी कोशिश इस मैच में ज्यादा से ज्यादा रन बना कर मजबूत भारतीय टीम पर दबाव डालने की होगी। अंतिम एकादाश पूरी तरह से अपना योगदान देना चाहेगी। फील्डर भी, गेंदबाज भी सभी पूरी ऊर्जा के साथ भारत पर दबाव बनाने की कोशिश करेंगे।”

किवी टीम को अब तक भारत दौरे पर स्पिन गेदंबाजों ने काफी परेशान किया है। टेस्ट श्रृंखला में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों का विकेट पर टिकना मुश्किल कर दिया था।

बाउल्ट ने भारतीय गेंदबाजों के संबंध में कहा, “भारत के गेंदबाजों ने धर्मशाला में अच्छी शुरुआत की थी। उन्होंने हम पर शुरू से ही दवाबा बना लिया था। जहां तक स्पिन की बात है रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा ने टेस्ट श्रृंखला में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। लेकिन यह दोनों प्रारूप अलग हैं। हालांकि भारत अच्छी टीम है और उन्होंने इस समय हमें दबाव में डाल दिया है।”

पहले मैच में बाउल्ट को अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली थी। हालांकि दूसरे मैच में खेलने को लेकर उनका कहना है कि वह चयन के लिए उपलब्ध हैं।

बाउल्ट ने कहा, “मैं चयन के लिए तैयार हूं। यह कोच और कप्तान केन विलियमसन पर निर्भर करता है कि वह किसे टीम में चाहते हैं।”

किवी टीम ने पहले मैच में एक ही स्पिनर को टीम में जगह दी थी। स्पिन की मददगार भारतीय पिचों पर गुरुवार को होने वाले दूसरे मैच में अंतिम एकादश में स्पिनरों के खेलने पर बाउल्ट का कहना था कि यह पिच पर निर्भर करता है।

उन्होंने कहा, “यह पूरी तरह से पिच पर निर्भर करता है। यह कप्तान और कोच पर निर्भर करता है कि वह किस तरह टीम में संतुलन लाते हैं।”