भारतीय टेस्ट उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने वेस्टइंडीज दौरे पर 90.33 के औसत से 271 रन बनाए थे। अपने इस शानदार प्रदर्शन के बावजूद रहाणे का मानना है कि विंडीज दौरा बीते हुए कल की बात हो चुकी है और अब उनका ध्यान बुधवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली सीरीज टेस्ट सीरीज पर है।

पढ़ें:- जसप्रीत बुमराह की गैर मौजूदगी में इन तेज गेंदबाजों को मिलेगा मौका

रहाणे ने पत्रकारों से कहा, “मैं मौजूदा समय को देख रहा हूं। मैंने वेस्टइंडीज में कुछ किया था। मैं टीम के लिए अपना योगदान देना चाहता हूं और अपने ऊपर दबाव नहीं लेना चाहता। वेस्टइंडीज में क्या हुआ, वह अब बीत चुका है और अब नई शुरुआत करना महत्वपूर्ण है।”

रहाणे ने कहा कि उन्होंने तकनीकी बातों की जगह मानसिक तथ्यो पर ध्यान देने की कोशिश की है। “मेरे लिए यह जरूरी था कि मैं अपनी सीमा में रहूं और अपनी क्षमताओं पर विश्वास करूं। यह सब इससे जुड़ा था कि मैं मुश्किल परिरिस्थितियों में खुद को मानिसक रूप से कैसे मैनेज करता हूं, ताकि मैं टीम में अपना योगदान दे सकूं।”

पढ़ें:- गौतम गंभीर बोले- टीम मैनेजमेंट को हिम्‍मत दिखानी होगी और…

टेस्ट सीरीज में मेजबान भारत को दावेदार माना जा रहा है। लेकिन रहाणे का मानना है कि दक्षिण अफ्रीकी टीम भी सम्मान की हकदार है। “यह महत्वपूर्ण है कि हम सीरीज जीतें, क्योंकि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप शुरू हो चुकी है। आप किसी भी टीम को हल्के से नहीं ले सकते। दक्षिण अफ्रीका में भी टेम्बा बावुमा, एडेन जैसे अच्छे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अभ्यास मैच में अच्छा किया है।”