पुणे टेस्‍ट का पहला दिन पूरी तरह से टीम इंडिया के नाम रहा. भारत ने मयंक अग्रवाल 108 (195) के शतक की मदद से पहले दिन 273/3 रन बनाए. कप्‍तान विराट कोहली 63* (105) और चेतेश्‍वर पुजारा 58 (112) ने भी टीम के लिए अर्धशतकीय पारियां खेली.

पूरे दिन के दौरान साउथ अफ्रीका को तीन सफलताएं मिली. तीनों ही विकेट कगीसो रबाडा ने लिए. खराब रौशनी के चलते पहले दिन 85 ओवरों का ही मैच हो सका.

पढ़ें:- साहा की वापसी से क्‍या रिषभ का टेस्‍ट करियर अब खत्‍म हो गया है? शास्‍त्री ने स्थिति की साफ…

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी का फैसला किया. विशाखापत्‍तनम टेस्‍ट की दोनों पारियों में शतक जड़ने वाले रोहित शर्मा इस मैच में महज 14 रन का ही योगदान दे पाए. 10वें ओवर में रबाडा ने उन्‍हें विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक के हाथों कैच आउट करवाया.

चेतेश्‍वर पुजारा ने जिसके बाद मयंक अग्रवाल के साथ मिलकर मोर्चा संभाला. पहले सेशन में इसके बाद कोई विकेट नहीं गिरा. दोनों ने साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 138 रन जोड़े. लंच तक भारत का स्‍कोर 77/1 था. दूसरे सेशन में पुजारा और मयंक दोनों ने अपना अर्धशतक पूरा किया.

पढ़ें:- लगातार दूसरे टेस्‍ट शतक के बाद मयंक अग्रवाल को इस अंदाज में मिली बधाईयां

पूरे सेशन के दौरान भारतीय बल्‍लेबाज साउथ अफ्रीका पर हावी रहे. चाय काल से ठीक पहले कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस ने कगीसो रबाडा को दूसरे सेशन में पहली बार गेंदबाजी अटैक पर लगाया. उन्‍होंने पुजारा को विकेट के पीछे कैच आउट करवाया. चायकाल तक भारत का स्‍कोर 168/2 रहा.

आखिरी सेशन में भारत ने बेहद तेज गति से रन बनाए. इस सेशन में 22 ओवर बल्लेबाजी कर भारत ने 105 रन जोड़े. आखिरी सेशन में मयंक ने आते ही दो छक्‍के लगाए और अपना शतक पूरा किया. शतक लगाने के बाद रबाडा ने उन्‍हें विकेट के पीछे कैच आउट करवाया.

इस सेशन में विराट ने अपना अर्धशतक पूरा किया. दूसरे छोर पर अजिंक्‍य रहाणे 18(70) दिन का खेल खत्‍म होने तक उनके साथ डटे थे.