भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल का मानना है कि जिस तेज गति से कप्तान विराट कोहली ने दोहरा शतक जमाया, उससे भारतीय गेंदबाजों को दक्षिण अफ्रीका के 20 विकेट हासिल करने के लिये काफी समय मिल गया.

फाइनल का टिकट कटाने रिंग में उतरेंगी भारत की 4 महिला बॉक्सर

कोहली ने 254 रन की नाबाद पारी से सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर भी बनाया और रविंद्र जडेजा (91) के साथ केवल 39.1 ओवर में 225 रन की भागीदारी से भारतीय टीम पहली पारी पांच विकेट पर 601 रन का विशाल स्कोर खड़ा करने में सफल रही.

कोहली ने 75.59 के शानदार स्ट्राइक रेट से दो छक्के सहित 35 बाउंड्री जमाई जिसके लिए उन्होंने 336 गेंद खेलीं.

अग्रवाल ने भी दूसरे टेस्ट मैच के शुरूआती दिन लगातार दूसरा शतक जड़ा. उन्होंने कहा, ‘निश्चित रूप से इससे हमारा शिकंजा बन गया है और यह सिर्फ रनों की संख्या की बात नहीं है बल्कि जिस तेजी से रन बने, उसने काफी अंतर पैदा कर दिया है.’

स्प्रिंटर दुती चंद ने नेशनल रिकॉर्ड के साथ जीता गोल्ड

भारतीय तेज गेंदबाजों ने दूसरे दिन स्टंप तक पहले ही दक्षिण अफ्रीका के 36 रन पर तीन विकेट झटक लिए हैं.

कर्नाटक के इस दाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा, ‘दोहरे शतक ने टीम को अतिरिक्त डेढ़ सत्र दे दिया है जो हमारे लिये काफी अहम होगा. विराट और (रविंद्र) जडेजा के बीच साझेदारी शानदार रही जो लगभग रन प्रति गेंद (230 गेंद में 225 रन) थी . अगर आप मैच जीतने की कोशिश कर रहे हो तो आपको 20 विकेट चटकाने के लिये समय चाहिए होता है.’

उन्होंने कहा, ‘250 रन बनाना, कोई मजाक नहीं है और जिस तरह से वो बल्लेबाजी कर रहे थे, वह अद्भुत है. उनकी सकारात्मकता और जज्बा शानदार था. रिकॉर्ड और उनके स्कोर उनसे सीख हासिल करने के लिए काफी हैं.’