नई दिल्ली: इंडिया-ए ने बल्ले और गेंद से एकतरफा प्रदर्शन करते हुए दूसरे चार दिवसीय अनाधिकारिक टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका-ए को ड्रॉ पर रोक दिया. इसी के साथ इंडिया-ए ने दो मैचों की टेस्ट सीरीज 1-0 से अपने नाम कर ली. इंडिया-ए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए हनुमा विहारी (149) के शतक और अंकित बवाने (80) के अर्धशतक के दम पर अपनी पहली पारी में 345 रन बनाए थे और दक्षिण अफ्रीका-ए को उसकी पहली पारी में 319 रनों पर समेट दिया था.

मैच के चौथे एवं आखिरी दिन सोमवार को इंडिया-ए ने अपनी दूसरी पारी में चार विकेट के नुकसान प 181 रन बनाए. अपने तीसरे दिन के स्कोर सात विकेट के नुकसान पर 294 रनों से आगे खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीका-ए अपने खाते में एक भी रन नहीं जोड़ पाई थी और उसने एनरिक नोर्टजे (0) का विकेट खो दिया. एनरिक को मोहम्मद सिराज ने पगबाधा आउट किया.

कोहली-शास्त्री की बढ़ेंगी मुश्किलें, टेस्ट सीरीज हारे तो BCCI करेगी सख्त कार्रवाई!

टीम के स्कोर में पांच रनों का इजाफा हुआ था कि डुआने ओलिवर (4) को अंकित राजपूत ने पवेलियन का रास्ता दिखाया. सिराज ने मथिवेखाया नाबे (7) को आउट कर दक्षिण अफ्रीका-ए की पारी का अंत किया. मेहमान टीम 26 रनों से पीछे थी और यह लगभग तय हो गया था कि मैच का परिणाम नहीं निकलेगा.

अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी इंडिया-ए की तरफ से कप्तान श्रेयस अय्यर ने सबसे ज्यादा 65 रन बनाए जिसके लिए उन्होंने 103 गेंदों का सामना किया और चार चौकों के अलावा चार छक्के मारे. बवाने ने दूसरी पारी में भी शानदार बल्लेबाजी करते हुए 100 गेंदों में नौ चौकों की मदद से 64 रनों की पारी खेली. वह नाबाद रहे. उनके साथ श्रीकर भरत भी 18 रन बनाकर नाबाद लौटे.

लॉर्ड्स में इंग्लैंड के 11 नहीं बल्कि 10 खिलाड़ियों ने ही खेला टेस्ट मैच!

इंडिया-ए ने पृथ्वी शॉ (4) के रूप में अपना पहला विकेट खोया. पहली पारी में शतक जमाने वाले विहारी इस पारी में खाता भी नहीं खोल पाए. मंयक अग्रवाल ने कुछ देर विकेट पर पैर जमाए और 44 गेंदों में पांच चौकों की सहायता से 28 रनों की पारी खेली. वह 54 के कुल स्कोर पर आउट हुए.