ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज जो बर्न्स (Joe Burns) का कहना है कि इस साल के अंत में भारत के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज ‘दो मजबूत गेंदबाजी आक्रमण’ के बीच जंग होगी। भारत को इस साल दिसंबर-जनवरी में चार टेस्ट खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है। Also Read - इयान बिशप ने चुनी दशक की सर्वश्रेष्ठ ODI टीम; महेंद्र सिंह धोनी बने कप्तान, बुमराह को जगह नहीं

बर्न्स ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं ऑस्ट्रेलिया और भारत को दो बेहतरीन मजबूत गेंदबाजी अटैक वाली टीमों के रूप में देखता हूं और जब दोनों टीमें आपस में भिड़ेंगी तो इसे देखना इतना रोमांचक होगा।’’ Also Read - ब्रेट ली की गुजारिश : ऑस्ट्रेलिया नहीं पाकिस्तान, वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरे शतक लगाएं रोहित शर्मा

भारतीय अटैक की अगुआई जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) जबकि ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजी की अगुआई दुनिया के नंबर एक पैट कमिंस (Pat Cummins) करेंगे। Also Read - जसप्रीत बुमराह की गेंदों का सामना करने को बेताब पाक बल्लेबाज, दे डाली ये चुनौती

भारतीय टीम में जहां विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे धाकड़ बल्लेबाज हैं तो वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की वापसी से मजबूत हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि दोनों टीमें नंबर एक रैंकिंग और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में अपने स्थानों के लिए खेलेंगी।’’

आईसीसी की ताजा टेस्ट रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को पछाड़कर अपना नंबर एक स्थान हासिल कर लिया है। लेकिन आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में वो शीर्ष पर चल रहे भारत के बाद दूसरे स्थान पर काबिज है। उन्होंने कहा, ‘‘इस समय हमें ट्रेनिंग के दौरान यही चीज प्रेरित कर रही है कि हमें भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ गर्मियों में खेलना है।’’

बर्न्स ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि सलामी बल्लेबाज के तौर पर यह मेरे लिये भी काफी रोमांचक होगी। इन गर्मियों में काफी चुनौती होगी और भारतीय गेंदबाजों का सामना करने में विशेषकर टेस्ट मैच के शुरू में सुबह के समय नयी गेंद से खेलना, काफी बड़ी भूमिका निभानी होगी। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘बेशक उनकी टीम विश्व स्तरीय है। मुझे लगता है कि दोनों टीमों के बीच मुकाबले को देखना और खिलाड़ियों का एक दूसरे के खिलाफ खेलना रोमांचक होगा। आप विश्व रैंकिंग देखिए, वो नंबर एक थे और अब हम नंबर एक हो गए हैं इसलिए मुझे पता है कि सभी को इस श्रृंखला का इंतजार है और एक खिलाड़ी के रूप में आप इस तरह की श्रृंखला में खेलना चाहते हो और अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हो।’’

कोरोना वायरस के कारण टी20 विश्व कप पर भी सवालिया निशान लग गया है जिससे क्रिकेट आस्ट्रेलिया वित्तीय संकट में है और अपने खर्चे में कमी ला रहा है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने 80 प्रति कर्मचारियों को जून के अंत तक सिर्फ 20 प्रतिशत वेतन देने का फैसला किया है। इस तरह की भी अटकलें हैं कि शेफील्ड शील्ड के 2020-21 सत्र में मैचों की संख्या कम की जा सकती है जिससे कि खर्चे कम हो।

बर्न्स ने हालांकि उम्मीद जताई कि इस शेफील्ड शील्ड से छेड़छाड़ नहीं की जाएगी। इस सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘मुझे यह तथ्य पसंद है कि हमारी प्रथम श्रेणी प्रणाली काफी मजबूत है। 10 मैच जहां आप सभी के खिलाफ दो-दो बार खेलते हो। इससे विश्व स्तरीय खिलाड़ी हमारी टेस्ट टीम में आते हैं। आप नहीं चाहते कि इसमें बदलाव हो।’’