नई दिल्ली : एशिया कप 2018 का आगाज 15 सितंबर से हो रहा है. इस टूर्नामेंट का आयोजन यूएई में हो रहा है. इसका पहला मुकाबला बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच खेला जायेगा. वहीं टीम इंडिया का पहला मुकाबला हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ 18 सितंबर को होगा. इस टूर्नामेंट के लिए भारत ने अनुभवी गेंदबाजों के साथ युवा गेंदबाजों को भी मौका दिया है. रोहित शर्मा की कप्तानी वाली भारतीय टीम में भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को बतौर तेज गेंदबाज शामिल किया गया. जब कि कुलदीप यादव और युजवेन्द्र चहल को बतौर स्पिन गेंदबाज मौका दिया गया.

भुवनेश्वर कुमार –

भुवी टीम इंडिया के बॉलिंग लाइन अप के बैकबोन हैं. उनके बिना भारतीय टीम की कल्पना करना बेहद गलत होगा. 86 इंटरनेशनल वनडे मुकाबले खेल चुके भुवनेश्वर ने इस फॉर्मेट में 90 विकेट झटके हैं. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 42 रन देकर 5 विकेट लेना रहा. भुवी ने दिसंबर 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ पहला वनडे मुकाबला खेला था. अब एशिया कप में एक बार फिर से वो पाक के खिलाफ मैदान में उतरेंगे.

एशिया कप 2018: टूर्नामेंट में दमदार प्रदर्शन को बरकरार रखेंगे जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह –

टीम इंडिया में कोई डेथ ओवर्स का स्पेशलिस्ट है तो वो हैं जसप्रीत बुमराह. बुमराह ने टी-20 और वनडे फॉर्मेट में तो कमाल दिखाया ही है, इसके साथ साथ टेस्ट मैचों में भी घातक गेंदबाजी कर चुके हैं. अब एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ बुमराह का अच्छा प्रदर्शन देखने को मिल सकता है. उन्होंने 37 वनडे पारियों में 64 विकेट झटके हैं. इस दौरान 27 रन देकर 5 विकेट लेना उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा.

खलील अहमद –

यह पहला मौका है जब खलील अहमद को भारतीय टीम में शामिल किया गया है. इससे पहले वो इंडिए ए के लिए अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं. इसके साथ-साथ वो घरेलू मैचों में भी अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं. खलील ने लिस्ट ए की 17 पारियों में 28 विकेट झटके. अहम बात यह है कि वो इंग्लैंड की घरेलू टीमों के खिलाफ खेल चुके हैं. हालांकि उनकी गेंदबाजी को इंटरनेशनल क्रिकेट में अभी पहचान नहीं मिली है. यह टीम इंडिया के लिए अच्छी बात होगी. क्यों कि खलील एक फ्रेश गेंदबाज हैं, जिनसे अभी तक कोई वाकिफ नहीं है.

एशिया कप 2018: पहले मुकाबले के लिए तैयार टीम इंडिया, टूर्नामेंट में 6 बार रह चुकी है विनर

कुलदीप यादव –

टीम इंडिया के युवा स्पिन गेंदबाज कुलदीप अब तक वनडे और टी-20 फॉर्मेट में सफल रहे हैं. वो भारत की मौजूदा टीम में इकलौते चाइनामैन गेंदबाज हैं. कुलदीप के इंटरनेशनल करियर पर नजर डालें तो उन्होंने 21 वनडे पारियों में 48 विकेट झटके हैं. उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 6 विकेट लेकर 25 रन देना रहा है. कुलदीप पाक के खिलाफ टीम इंडिया के लिए फायदेमंद साबित होंगे.