नई दिल्ली : न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया को वेलिंग्टन टी-20 मैच में 80 रन से हार का सामना किया. यह रनों की लिहाज से भारत की टी-20 इंटरनेशनल में सबसे बड़ी हार है. न्यूजीलैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 219 रन बनाए. इसके जवाब में भारतीय टीम 139 रन पर ऑलआउट हो गई. इससे पहले भारत को 2010 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 49 रन से हार का सामना करना पड़ा था. वेलिंग्टन टी-20 में धोनी सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे. उनसे जुड़ा एक दिलचस्प तथ्य यह है कि जब धोनी एक पारी में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे तब भारत को हार का सामना करना पड़ा.

दरअसल वेलिंग्टन में खेले गए मैच में भारत को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा. जहां टीम इंडिया के गेंदबाज बुरी तरह फ्लॉप हुए. वहीं बल्लेबाज भी कुछ खास नहीं कर पाए. भारत के लिए महेन्द्र सिंह धोनी ने सर्वाधिक 39 रन बनाए. भारतीय टीम की हार को देखें तो यह रनों के लिहाज से उसकी सबसे बड़ी हार है. इससे पहले भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 49 रन से हार का सामना करना पड़ा था. यह मैच 2010 में खेला गया था. वहीं 2016 में नागपुर टी-20 में भारत को 47 रन से हार का सामना करना पड़ा.

INDvsNZ: दिनेश कार्तिक ने पकड़ा अद्भुत कैच, वायरल हुआ VIDEO

गौरतलब है कि जब-जब धोनी भारत के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे, तब-तब भारत को हार का सामना करना पड़ा. 2012 में सिडनी टी-20 में धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 48 रन बनाए थे. इस मैच में भारत को 31 रन से हार का सामना करना पड़ा. 2012 में ही मुंबई टी-20 में भारत को 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए मैच में धोनी ने 38 रन बनाए थे. साल 2016 में नागपुर टी-20 में धोनी ने 30 रन बनाए. न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत को 47 रन से हार का सामना करना पड़ा. इस तरह कानपुर में खेले गए टी-20 में धोनी ने नाबाद 36 रन बनाए थे. इंग्लैंड के खिलाफ 2017 में खेले गए इस मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था.