नई दिल्ली: भारत और अफगानिस्तान के बीच बेंगलुरु में खेले गए टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया. अफगानिस्तान टीम ने अपना डेब्यू टेस्ट मैच भारत के खिलाफ खेला, जिसमें उसे पारी और 262 रन से हार का सामना करना पड़ा. यह मुकाबला शुरुआत से ही एक तरफा रहा. हालांकि इसके बावजूद अफगानिस्तान के खिलाड़ी संघर्ष करते दिखे. इस मैच में भारत ने अपनी सबसे बड़ी टेस्ट जीत हासिल की. इससे पहले उसने बांग्लादेश और श्रीलंका को बड़े अंतर से हराया था.

दरअसल बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑल आउट होने तक 474 रन बनाए. इसके जवाब में अफगानिस्तान की टीम अपनी पहली पारी में 109 रन पर ऑल आउट हो गई. इसके बाद भारत ने उसे फॉलोऑन दिया. इसके बावजूद टीम जीत हासिल नहीं कर सकी और दूसरी पारी में 103 रन पर ऑल आउट हो गयी. इस तरह भारत ने पारी और 262 रन से मुकाबला जीत लिया. इसके अलावा एक खास बात यह भी है कि भारत ने एक ही दिन में किसी टीम को दो बार ऑल आउट किया है. टीम इंडिया ने पहली बार ऐसा किया.

टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया की सबसे बड़ी जीत, अफगानिस्तान को पारी और 262 रन से हराया

यह भारत की सबसे बड़ी टेस्ट जीत है. इससे पहले उसने श्रीलंका को 2017 में नागपुर टेस्ट मैच में पारी और 239 रन से हराया था. इससे पहले मई 2007 में टीम इंडिया ने बांग्लादेश को ढ़ाका में पारी और 239 रन से हराया था. टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को बड़े अंतर से हराया है. उसने मार्च 1998 में खेले गए टेस्ट मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को पारी और 219 रन से हराया था, जो कि अब भारत की चौथी सबसे बड़ी जीत मानी जायेगी. लिहाजा बेंगलुरु में खेले गए मैच में भारत ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया.

उमेश यादव के नाम दर्ज हुआ कीर्तिमान, टीम इंडिया के स्पेशल बॉलर्स की लिस्ट में शामिल

बता दें कि अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच खेलने उतरी भारतीय टीम ने पहली पारी में 474 रन बनाए. इस दौरान शिखर धवन ने 107 रन की बड़ी पारी खेली. वहीं मुरली विजय ने भी शतक जड़ा. इसके अलावा लोकेश राहुल ने 54 रन की अहम पारी खेली. इसके अलावा गेंदबाजी की बात करें तो भारत की ओर से इस मुकाबले में रविन्द्र जडेजा ने कुल 6 विकेट, ईशांत शर्मा ने कुल 4 विकेट, रविचन्द्रन अश्विन ने कुल 5 विकेट और उमेश यादव ने 4 विकेट हासिल किए.