नई दिल्ली: भारत में टैक्स में छूट ना मिलने पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) चैम्पियंस ट्रॉफी 2021 की मेजबानी का अधिकार वापस ले सकता है. आईसीसी ने इसके आयोजन के लिए ऐसे वैकल्पिक देशों की तलाश भी शुरू कर दी है जहां का समय क्षेत्र भारत से मिलता जुलता हो. Also Read - अगर फिट हुए तो ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जरूर जाएंगे रोहित शर्मा: दीप दासगुप्ता

Also Read - ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया में शामिल हुए वरुण चक्रवर्ती ने कहा- 'सपना पूरा हुआ'

आईसीसी की कल आयोजित साल की पहली बोर्ड बैठक के बाद इस बात पर चिंता गयी की उसके आयोजनों पर भारतीय सरकार टैक्स में छूट नहीं दे रही. हालांकि इस वैश्विक संस्था ने कहा कि वे बीसीसीआई के जरिए सरकार से बातचीत जारी रखेंगे. Also Read - IND vs AUS: सूर्यकुमार यादव को फिर नहीं मिली टीम इंडिया में जगह, फैंस मांग रहे न्याय

LIVE INDvSA: भारत का पांचवां विकेट गिरा, श्रेयस 18 रन बनाकर आउट

आईसीसी की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ”आईसीसी ने चिंता जाहिर की कि उसके और बीसीसीआई की कोशिशों के बाद भी भारत में होने वाले आईसीसी आयोजनों पर सरकार टैक्स छूट नहीं दे रही है। दुनिया में किसी भी बड़े खेल आयोजन पर टैक्स छूट दी जाती है.”

शीर्ष क्रिकेट निकाय ने कहा कि बीसीसीबाई की मदद से आईसीसी इस मसले को सुलझाने के लिस सरकार से बातचीत के साथ ऐसे वैकल्पिक देश की तलाश कर रही है जिसका समय क्षेत्र भारत से मिलता जुलता हो. रिपोर्ट के मुताबिक अगर इस बड़े आयोजन के लिए टैक्स छूट नहीं मिलती है तो आईसीसी को 10 करोड़ डॉलर का नुकसान झेलना पड़ सकता है. इससे पहले पिछले साल दिसंबर में बीसीसीआई ने 2021 में चैम्पियंस ट्रॉफी और 2023 में विश्व कप की मेजबानी की घोषणा की थी.